रेलवे ने शुरू की सभी एक्‍सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की तैयारी, स्‍पेशल ट्रेनों के किराए से बचेगी जान

 

सामान्‍य ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की तैयारी में जुटा रेलवे। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पिछले साल होली के ठीक बाद रेलवे ने ट्रेनों का परिचालन कोरोना के कारण बंद कर दिया था। अब उम्‍मीद है कि होली से पहले रेलवे ट्रेनों का सामान्‍य परिचालन शुरू कर सकता है। इस बाबत खुद रेलवे के जीएम ने दावा किया है।

पटना,  संवाददाता। कोरोना काल में सामान्‍य ट्रेनों की बजाय स्‍पेशल ट्रेनों का किराया आम लोगों पर भारी पड़ रहा है। अभी बहुत सारी ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं हो सका है। जो ट्रेनें चल रही हैं, उनका किराया सामान्‍य से अधिक है। लेकिन अब यह मुश्कि‍ल जल्‍द ही दूर होने वाली है। रेलवे मार्च 2020 की तरह ही ट्रेनों का सामान्‍य परिचालन  शुरू करने की तैयारी में जुट गया है। रेलवे ने सभी एक्‍सप्रेस, मेमू, डेमू और अन्‍य लोकल पैसेंजर ट्रेनों को फिर से पटरी पर लाने के लिए मार्च तक की तैयारी रखी है। पूर्व मध्‍य रेलवे के जीएम ललित चंद्र त्रिवेदी ने बताया कि इसके लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्‍ताव भेज दिया गया है। जल्‍दी ही इस पर मंजूरी भी मिल जाने की उम्‍मीद है।

पूर्व मध्‍य रेल में चल रहीं 215 मेल-एक्‍सप्रेस ट्रेनें

फिलहाल पूर्व मध्य रेल क्षेत्र से 215 मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन होने लगा। इसके साथ ही 39 सवारी गाडिय़ों का भी परिचालन शुरू किया गया है। इसके बावजूद यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व मध्य रेल की ओर से रेलवे बोर्ड से नियमित सवारी गाडिय़ों के परिचालन की अनुमति मांगी गई है। शीघ्र ही अनुमति मिलने की उम्मीद है। संभवत: मार्च के मध्य तक एक्सप्रेस के साथ ही सवारी गाडिय़ों का भी परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

पटना से नेपाल के लिए रेल का सपना जल्‍द होगा पूरा

पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने बताया कि रेलवे की ओर से शीघ्र ही पटना से सीतामढ़ी होते हुए जनकपुर तक सीधी रेल सेवा शुरू की जाएगी। जनकपुर तक लगभग रेल लाइन का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। जब तक निर्माण कार्य पूरा होगा तब तक ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। इससे पटना मेन लाइन सीधे नेपाल से जुड़ जाएगी। रेलवे बोर्ड से रक्सौल से काठमांडू रेलखंड के सर्वे के लिए भी बजट में विशेष व्यवस्था की गई है। राजधानी के लोगों के लिए सबसे बड़ी समस्या मीठापुर के आरओबी के निर्माण कार्य को पूरा नहीं किए जाने से हो रही थी। अब रेलवे बोर्ड से हरी झंडी मिल गई है। शीघ्र ही इसकी अनुमति मिल जाएगी। इसके बाद काम शुरू कर दिया जाएगा।