एलएलबी में एडमिशन करवाने के नाम पर ठग लिए साढ़े पांच लाख

 

 

एलएलबी में एडमिशन करवाने के नाम पर ठग लिए साढ़े पांच लाख। फाइल फोटो

एलएलबी में एडमिशन करवाने के नाम पर साढ़े पांच लाख की ठगी का मामला सामने आया है। घटना राजस्थान के जोधपुर की है। जाजीवाल विश्नोईयान के रहने वाले एक व्यापारी को उसके पुत्र के लिए एलएलबी में दाखिला कराने के नाम पर ठगी का मामला पुलिस ने दर्ज किया।

जोधपुर,सूत्र।अपने पुत्र को वकील बनाने के चक्कर में जोधपुर का एक व्यक्ति साढ़े पांच लाख रुपये की ठगी का शिकार हो गया। लगातार दो साल तक कॉलेज प्रवेश के लिए प्रतीक्षा करने के बाद भी जब पीड़ित के पुत्र का कहीं भी एडमिशन नहीं हुआ तो उसने अपने पैसे वापस मांगे। पैसों को वापस लौटने में हुई आनाकानी के बाद पीड़ित व्यापारी को एलएलबी में प्रवेश दिलाने के नाम पर हुई ठगी का अहसास हुआ। इसके बाद पीड़ित व्यक्ति ने जोधपुर के बनाड़ थाना में मामला दर्ज कर करवाया है। पीड़ित व्यापारी ने एडमिशन के लिए वर्ष 2017 में रुपये देने की बात कही है। जोधपुर के बनाड़ स्थित जाजीवाल विश्नोईयान के रहने वाले एक व्यापारी को उसके पुत्र के लिए एलएलबी में दाखिला कराने के नाम पर साढ़े पांच लाख की ठगी किए जाने का मामला पुलिस ने दर्ज किया है।

बनाड़ पुलिस ने बताया कि जाजीवाल विश्रोईयान निवासी हरलाल पुत्र ईसराराम विश्रोई की तरफ से रिपोर्ट दी गई। इसमें बताया कि उसके पुत्र प्रमोद का वर्ष 2017 में एलएलबी में दाखिला करवाना था। तब अपने एक परिचित से बात की। इस पर परिचित ने मुंबई हाल जोधपुर के निखिल निरंजन छंगाणी का नाम बताया था। इस पर उससे संपर्क साधा गया। निखिल निरंजन ने पूना में अपनी पहचान का कॉलेज होना बताकर एडमिशन के लिए साढ़े पांच लाख रुपये लगने की बात कही। इस पर अपने बेटे के एडमिशन के लिए हरलाल ने वर्ष 2017 में साढ़े पांच लाख रुपये आरोपित को दिए, लेकिन रुपयों के लेन-देन के बाद एडमिशन नहीं हुआ। पता करने पर आरोपित ने पुणे के एक संस्थान में सीटें पूरी भर जाने की बात कहकर दूसरे संस्थान में दाखिला करवाने का झांसा दिया, लेकिन अभी तक पीड़ित के पुत्र प्रमोद का कहीं प्रवेश नही हुआ। इसके बाद जब हरलाल ने निखिल निरंजन से पैसे वापस मांगे तो आरोपित द्वारा आनाकानी किए जाने पर पीड़ित को अपने साथ ठगी होने का अहसास हुआ। इसके बाद उसने जोधपुर के बनाड़ थाना पहुंचकर पूरी आपबीती बताई। पुलिस ने धोखाधड़ी में केस दर्ज करते हुए इसमें अब जांच आरंभ की है।

युवती ने क्रेडिट कॉर्ड रिवार्ड का दिया लालच, सैन्यकर्मी के खाते से पार हुई एक लाख से अधिक की राशि

जोधपुर के बनाड़ सैन्य क्षेत्र में रहने वाले एक फौजी को युवती ने क्रेडिट कार्ड में 25 हजार का रिवार्ड प्राप्त होने का झांसा देकर उसके खाते से 1.10 लाख रुपये की ऑनलाइन निकासी कर ली। अब युवती का फोन बंद आ रहा है। पीड़ित सैन्यकर्मी ने इस बारे में बनाड़ थाने में प्राथमिकी दी है। बनाड़ पुलिस ने बताया कि मूलत: जयपुर के बापूनगर हाल बनाड़ सैन्य क्षेत्र 19 एफएडी में कार्यरत रिषभ गुप्ता पुत्र ब्रह्मदत्त गुप्ता से यह ठगी हुई। इसमें बताया कि तीन फरवरी को उसके फोन पर किसी युवती का कॉल आया था। उसने क्रेडिट कार्ड के बारे में संपूर्ण जानकारी दी। तब युवती ने यह भी बताया कि उसके क्रेडिट कार्ड पर 25 हजार का रिवार्ड मिला है। इसे पाने के लिए वह एक कोड भेज रही है। इसे क्लिक करने पर ओटीपी नंबर डाल देना। झांसे में आए सैन्यकर्मी ने ओटीपी नंबर लगा दिए। इसके बाद उसके खाते से तीन फरवरी से लेकर नौ फरवरी के बीच में एक लाख दस हजार रुपये निकाल लिए गए। रुपये की निकासी के आधार पर ऑनलाइन शॉपिंग का अंदेशा जताया जा रहा है। इस संबंध में पुलिस ने अपनी पड़ताल शुरू की है। बनाड़ थाना पुलिस ने धोखाधड़ी की धाराओं में मामला दर्ज किया है।