हरियाणा के संदीप, राहुल व प्रियंका टोक्‍यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाइड

 

रांची में हरियाणा के प्रियंका और राहुल। जागरण

संदीप कुमार ने 1 घंटा 20 मिनट 16 सेकंड का समय निकाल टोक्यो ओलंपिक में अपनी जगह बनाई जबकि राहुल ने 1 घंटा 20 मिनट 26 सेकंड का समय निकाला। रेल वॉक रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित किया जा रहा है।

रांची,सं। हरियाणा के संदीप कुमार, राहुल व प्रियंका ने 20 किलोमीटर वॉक स्पर्धा में ओलंपिक खेलने की पात्रता हासिल कर ली है। रांची के मोरहाबादी मैदान में हो रही चौथी अंतरराष्ट्रीय रेस वॉकिंग प्रतियोगिता में इन्‍होंने यह उपलब्धि हासिल की है। संदीप कुमार ने 1 घंटा 20 मिनट 16 सेकंड का समय निकाल कर टोक्यो ओलंपिक के लिए अपनी जगह बनाई, जबकि राहुल ने 1 घंटा 20 मिनट 26 सेकंड का समय निकाला।

उत्तर प्रदेश की प्रियंका ने 1 घंटा 28 मिनट 45 सेकंड के समय के साथ नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया और ओलंपिक के लिए क्वालीफाइ किया। 20 किलोमीटर वॉक स्पर्धा में पहले 5 किलोमीटर तक संदीप व राहुल 19.41 मिनट के समय के साथ बराबरी पर थे। 10 किलोमीटर पर भी दोनों 39.27 मिनट के साथ बराबरी पर थे। 15 किलोमीटर वॉक के बाद संदीप 1 सेकंड से आगे थे। अन्ततः 20 किलोमीटर वॉक के बाद यह अंतर 10 सेकंड का रहा।

34 सेकेंड की टीस ने मुझसे बेहतर प्रदर्शन कराया : संदीप कुमार

टोक्यो ओलंपिक का नेशनल रिकाॅर्ड के साथ टिकट कटाने वाले हरियाणा के संदीप कुमार ने कहा कि पिछले साल इसी जगह मैं 34 सेकेंड से पिछड़ने के कारण ओलंपिक का टिकट नहीं कटा पाया था। यह टीस मुझे आज तक सालता रहा है। अब जाकर मुझे चैन मिला है। पहले दिन के खेल समाप्त होने के बाद संदीप ने कहा कि जब मैं पिछली बार पिछड़ गया था तो मुझे कई रात तक नींद नहीं आती थी। मैने तभी से इसकी तैयारी शुरू कर दी थी। अब जब मैंने ओलंपिक टिकट हासिल कर ली है तो मुझपर दबाव कम हो गया है। जो समय मैने यहां निकाला है, उससे मुझे उम्मीद बनी है कि अगर मैं अपने प्रदर्शन में थोड़ा सुधार कर लूं तो ओलंपिक में पदक जीत सकता हूं। उन्होंने कहा कि टोक्यो ओलंपिक के साथ-साथ विश्व चैंपियनशिप में हमें बेहतर प्रदर्शन करना होगा। इसके लिए मैं अभी से तैयारी शुरू कर दूंगा। उम्मीद है कि दोनों प्रतियोगिताओं में भारतीय खेल प्रेमियों की आशाओं पर खरा उतरूंगा। संदीप किसान परिवार से आते हैं और सेना (जाट रेजिमेंट) में हैं। उन्होंने कहा कि रियो ओलंपिक में भी मैंने देश का प्रतिनिधत्व किया था और 33वें स्थान पर रहा था। लेकिन इस बार उससे बेहतर करने का विश्वास है।

अब ओलंपिक पदक जीतने का सपना है : प्रियंका

महिला वर्ग में नेशनल रिकाॅर्ड के साथ टोक्यो ओलंपिक का टिकट पाने वाली मेरठ की प्रियंका गोस्वामी का सपना अब ओलंपिक में देश के लिए पदक जीतना है। उसने कहा कि ओलंपिक के लिए क्वालीफाइ करना बहुत बड़ी बात है। मेरा पूरा ध्यान अब टोक्यो पर है। यहां से जाने के बाद मैं उसी से जुड़ जाऊंगी। उसने कहा कि लगभग एक साल बाद अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भाग लेकर जीत हासिल करने से काफी खुशी हो रही है। यह पूछे जाने पर कोरोना के दौरान उनकी तैयारी कितनी प्रभावित हुई। प्रियंका ने कहा कि मैदान पर हम अभ्यास नहीं करते थे। कमरे में ही तैयारी करती थी। लगता था कि जल्द ही कोई चैंपियनशिप शुरू होगी। लेकिन कोरोना के कारण पिछले साल कई प्रतियोगिताएं स्थगित होती चली गई। लेकिन मैं निराश नहीं हुई और अभ्यास करती रही।