उत्तराखंड: पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी को अहम जिम्मेदारी, सेवा का अधिकार आयोग में बने आयुक्त

पूर्व पुलिस महानिदेश अनिल रतूड़ी बने सेवा का अधिकार आयोग में आयुक्त। फाइल फोटो
उत्तराखंड सरकार ने पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी को अहम जिम्मेदारी दी है। उन्हें सेवा का अधिकार आयोग में आयुक्त बनाया गया है। आपको बता दें कि रतूड़ी पिछले साल 30 नवंबर को सेवानिवृत्त हुए थे। उन्होंने अपने कार्यकाल में कई अहम फैसले लिए।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी को अहम जिम्मेदारी दी है। उन्हें सेवा का अधिकार आयोग में आयुक्त बनाया गया है। आपको बता दें कि रतूड़ी पिछले साल 30 नवंबर को सेवानिवृत्त हुए थे। उन्होंने अपने कार्यकाल में कई अहम फैसले लिए। कानून व्यवस्था को सुदृ्ढ़ करने का भी काम किया। 

अनिल रतूड़ी तेज तर्रार और कड़क छवि वाले आइपीएस और पूर्व डीजीपी उत्तराखंड रहे हैं। उनको एक ईमानदार शख्सियत के रूप में जाना जाता है। इसका अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि जब सिटी पेट्रोल यूनिट ने रेड लाइट जंप करने पर उनकी निजी कार का चालान काटा तो कार में मौजूद अनिल रतूड़ी ने मौके पर ही चालान भुगतकर यह संदेश दे दिया कि कानून से बड़ा कोई नहीं है। नियमों की अनदेखी करने पर किसी पर भी कार्रवाई हो सकती है। 

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी रहे हैं रतूड़ी 

रतूड़ी रोलर हॉकी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी रहे। उनका बचपन मसूरी में बीता और उन्होंने अपनी शिक्षा सेंट जॉर्ज कॉलेज से पूरी की। उन दिनों मसूरी में रोलर स्केटिंग का काफी क्रेज था। 1983 में मिश्र के काहिरा में आयोजित विश्व रोलर हॉकी प्रतियोगिता के लिए उनका चयन भारतीय टीम में हुआ था। उनकी साफ छवि को देखते हुए अब उन्हें सेवा का अधिकार आयोग में आयुक्त की अहम जिम्मेदारी दी गई है। इस बाबत सरकार की ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं।