छत्तीसगढ़ फार्मूले पर कांग्रेस कर रही असम में वापसी की तैयारी, बूथ स्तर पर सक्रिय हुई बघेल टीम

 

राष्ट्रीय सचिव के साथ बूथ स्तर पर सक्रिय हुई सीएम बघेल की टीम।

असम की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस ने वहां छत्तीसगढ़ फार्मूले पर काम शुरू कर दिया है। छत्तीसगढ़ के नेताओं की सक्रिय टीम कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर संगठित कर रही है। प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से उनमें उत्साह भरा जा रहा है।

रायपुर, राज्य ब्यूरो। असम की सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस ने वहां छत्तीसगढ़ फार्मूले पर काम शुरू कर दिया है। छत्तीसगढ़ के नेताओं की वहां सक्रिय एक टीम कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर संगठित कर रही है। साथ ही प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से उनमें उत्साह भरा जा रहा है। छत्तीसगढ़ की तरह ही सीधे आम लोगों से जुड़े मुद्दों को तलाश कर उसे चुनावी बनाने की रणनीति पर काम किया जा रहा। कुछ मुद्दों को लेकर लगातार आंदोलन भी किया जा रहा है ताकि आम लोग भी पार्टी के साथ जुड़ सकें।

असम चुनाव में छत्तीसगढ़ के नेताओं की अहम भूमिका

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय असम के प्रभारी हैं। वह राजधानी रायपुर की पश्चिम विधानसभा सीट से विधायक हैं। इसी तरह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के मुख्य पर्यवेक्षक हैं। इस वजह से असम चुनाव में छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेताओं की अहम भूमिका है।असम प्रभारी विकास उपाध्याय ने बताया कि अभी असम में कार्यकर्ताओं को एकजुट करके प्रशिक्षित करने पर जोर दिया जा रहा है। सरकार की कमियों और कमजोरियों को भी आक्रमक तरीके से जनता के बीच उठा रहे हैं। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका में भूपेश बघेल ने इसी तर्ज पर बूथ स्तर पर पहली बार कांग्रेस को मजबूत करने में अभूतपूर्व सफलता हासिल की थी।

 सरकार की पांच साल की नाकामियों को मतदाता तक पहुंचाएंगे

उपाध्याय ने दावा किया कि कांग्रेस लोगों को बूथ स्तर पर सक्रिय कर असम में सरकार बनाने सफल होगी। भाजपा सरकार की पांच साल की नाकामियों और घोषणापत्र पूरा करने में विफलता को मतदाता तक पहुंचाएंगे।

इन्हें सौंपी गई है कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण की जिम्मेदारी

असम चुनाव के लिए कांग्रेस के मुख्य पर्यवेक्षक भूपेश बघेल ने वहां कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने के लिए अपने भरोसेमंद लोगों की टीम भेजी है। इनमें सीएम के सलाहकार विनोद वर्मा, राजेश तिवारी, रूचिर गर्ग, सुरेंद्र शर्मा और अरूण भद्रा शामिल हैं। यह लोग लगातार असम के प्रवास पर हैं। बघेल ने उन्हें बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर एक-एक मतदाता तक पहुंचने कांग्रेस की रणनीति पर कार्य करने के निर्देश दिए हैं। बघेल भी प्रशिक्षण शिविरों में शामिल होंगे।