हरियाणा के सीएम ने दौलताबाद में किया आइबीएमए का शिलान्यास, कहा- पूरे देश में अनूठा होगा संस्थान


गांव दौलताबाद में आइबीएमए के शिलान्यास समारोह में पहुंचे थे मुख्यमंत्री

हरियाणा के सीएम ने दौलताबाद में इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट एंड एग्रीप्रेन्योरशिप संस्थान का शिलान्यास किया। यहां उन्होंने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार को किसानों की चिंता है। सरकार इनके बेहतरी के लिए कई काम कर रही है।

गुरुग्राम। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि कृषि कानूनों के नाम पर विपक्षी दल राजनीति कर रहे हैं। किसानों को बरगलाने का प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस जब सत्ता में थी तो वह कृषि कानूनों को लागू करना चाहती थी। सही मायने में इन कानूनों के ऊपर चर्चा कांग्रेस के कार्यकाल में ही शुरू हुई थी। प्रदेश व केंद्र सरकार किसान हितैषी है। प्रदेश में 17 लाख किसान हैं। सभी को ध्यान में रखकर योजना बनाई जाती है।

गांव दौलताबाद में शनिवार को चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय से संबंधित इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट एंड एग्रीप्रेन्योरशिप (आइबीएमए) नामक संस्थान का शिलान्यास करने के बाद समारोह को संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरहाल ने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार को किसानों की चिंता है। किसान कैसे मजबूत हों, इसके लिए प्रयासरत है। यदि किसी कानून या योजना में कमी दिखाई दे तो किसान भाई सरकार से संवाद करें। उन्होंने कहा कि एमएसपी थी, एमएसपी है और एमएसपी रहेगी।

न केवल प्रदेश में बल्कि पूरे देश में अनूठा संस्थान होगा आइबीएमए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प है कि वर्ष 2022 तक किसान की आय दोगुनी हो। इस दिशा में प्रदेश सरकार काम कर रही है। आइबीएमए के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह संस्थान प्रदेश में तो अनूठा होगा ही, देश में भी इसके मुकाबले का संस्थान नहीं होगा। इसके माध्यम से कृषि उत्पादों को बेचने और उनके प्रबंधन के पूरे अवसर मिलेंगे।संस्थान में एग्री बिजनेस मैनेजमेंट, रूरल मैनेजमेंट, बिजनेस मैनेजमेंट, एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजमेंट एवं कापरेटिव मैनेजमेंट के कोर्स होंगे। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की भलाई के लिए काम कर रही है। राजस्थान में बाजरा 1200 रुपये क्विंटल के भाव पर बिक रहा था लेकिन हरियाणा में सरकार ने 2350 रुपये क्विंटल के भाव पर खरीदा। दोगुने परचेज सेंटर बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी कौम भावुक है।

हम पहले करते हैं फिर सोचते हैं। विवेक से काम लेना चाहिए। बादशाहपुर के विधायक व हरियाणा कृषि उद्योग निगम के चेयरमैन राकेश दौलताबाद ने संस्थान के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हुए कहा कि यहां से पास होने वाले विद्यार्थियों की शत-प्रतिशत प्लेसमेंट होगी। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कृषि से जुड़ी आबादी के कल्याण के बारे में सोचते हुए यह कदम उठाया है।

कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार रबी और खरीफ की नौ फसलें एमएसपी पर खरीद रही हैं। प्रदेश में 486 फार्मर प्रोड्यूस आग्रेनाइजेशन (एफपीओ) बनाए गए हैं। समारोह में हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. समर सिंह, भाजपा जिला अध्यक्ष गार्गी कक्कड़, पुलिस आयुक्त केके राव एवं उपायुक्त डा. यश गर्ग सहित कई विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।