डीजीपी स्तर पर जल्द होगा फेरबदल और नियुक्तियां, संसदीय समिति ने लिया फैसला

 

नियुक्ति संबंधी कैबिनेट कमेटी (एसीसी) ने बनाया पैनल। (फोटो: एजेंसियां)

नियुक्ति संबंधी कैबिनेट कमेटी (एसीसी) ने फेरबदल और नियुक्तियां को लेकर 29 आइपीएस अधिकारियों का पैनल बनाया है। कैबिनेट कमेटी ने डीजी या डीजी के समतुल्य पदों के लिए 11 फरवरी को आइपीएस अधिकारियों का पैनल जारी किया।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश की नियुक्ति संबंधी कैबिनेट कमेटी (एसीसी) द्वारा 29 आइपीएस अधिकारियों का पैनल बनाए जाने के बाद उम्मीद की जा रही है कि महानिदेशक (डीजी) या उसके समतुल्य स्तर पर जल्द ही फेरबदल या नियुक्तियां होंगी। एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि एसीसी ने डीजी या डीजी के समतुल्य पदों के लिए 11 फरवरी को आइपीएस अधिकारियों का पैनल जारी किया। इन अधिकारियों के अलावा करीब दर्जन भर अधिकारी और भी हैं, जिनका पिछले साल बने पैनल में नाम शामिल है। सीआरपीएफ के डीजी आनंद प्रकाश माहेश्वरी फरवरी में रिटायर हो रहे हैं और रिक्त हो इस पद के लिए दावेदारों की दौड़ शुरू हो गई है। 

सरकारी सूत्रों ने बताया है कि जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में भी वरिष्ठ स्तर पर फेरबदल होगी। जम्मू-कश्मीर के कुछ अधिकारियों को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर भी भेजा जा सकता है। अखिल भारतीय सेवा के तहत जम्मू-कश्मीर कैडर के ये अधिकारी अब एजीएमयूटी कैडर के हो गए हैं। इसलिए इन अधिकारियों का तबादला दिल्ली, पुडुचेरी, अंडमान-निकोबार समेत सभी केंद्र शासित प्रदेशों में किया जा सकता है। 1986 से 1988 बैच के आइपीएस अधिकारी महानिदेशक (डीजी) का पद पाने का इंतजार कर रहे हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल व्यूरो (एनसीबी), नेशनल सेक्युरिटी गार्ड (एनएसजी), बीपीआर एंड डी तथा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की जांच शाखा के महानिदेशक के पद कई महीने से खाली हैं और इन्हें भरने के लिए जल्द ही नियुक्ति की जाएगी। फिलहाल शीर्ष स्तर के पुलिस अधिकारियों के जिम्मे इन संगठनों का अतिरिक्त प्रभार हैं।

विजयवाड़ा में विमान बिजली के खंभे से टकराया, यात्री सुरक्षित

एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक बोइंग विमान शनिवार शाम विजयवाड़ा हवाई अड्डे पर टैक्सिंग के दौरान बिजली के खंभे से टकरा गया। इससे विमान का दाहिना पंख क्षतिग्रस्त हो गया, लेकिन उसमें सवार सभी 64 यात्री सुरक्षित हैं।हवाई अड्डा निदेशक मधुसूदन राव ने बताया कि विमान दोहा से वाया विजयवाड़ा तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली की उड़ान पर था। कुल 64 यात्रियों में से 19 को विजयवाड़ा में उतरना था, जबकि शेष यात्री को तिरुचिरापल्ली जाना था। एक यात्री रेशमा ने बताया कि टैक्सिंग के दौरान अचानक ही झटका लगने से दहशत का माहौल बन गया था, लेकिन आखिरकार सब कुछ ठीक रहा। भगवान की कृपा से किसी को कुछ नुकसान नहीं हुआ। काकीनाडा की एक अन्य यात्री वारालक्ष्मी ने बताया कि एयरलाइंस के स्टाफ ने बताया कि मामूली दुर्घटना हुई है तो बड़ी राहत मिली।तिरुचिरापल्ली जाने वाले यात्रियों को दूसरे विमान से उनके गंतव्य तक भेजने की व्यवस्था की जा रही है।