पंजाब में एक बार अरविंद केजरीवाल जी की राजनीति को मौका दें : मनीष सिसोदिया
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की फाइल फोटो।

पंजाब में हो रहे स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर मनीष सिसोदिया ने कहा कि पंजाब के स्थानीय निकाय चुनावों में जनता आम आदमी पार्टी को उम्मीद से देख रही है। आपने सभी को देख लिया एक बार अरविंद केजरीवाल जी की राजनीति को मौका दें।

नई दिल्ली, एएनआइ।  दिल्ली के शिक्षा मॉडल की पूरे देश में तारीफ हो रही है। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में आम आदमी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में भी इसको प्रमुख स्थान दिया था। वहीं, शुक्रवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि दिल्ली ऐसा मॉडल बन गया है, जहां पिछले 5-6 साल में निजी स्कूलों की फीस नहीं बढ़ी है। इतना ही नहीं, दिल्ली के सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राएं बिना कोचिंग के आइआइटी जा रहे हैं और नीट तक उत्तीर्ण कर रहे हैं। दिल्ली में ऐसे स्कूल भी हैं, जहां 80 बच्चों में से 35 ने नीट परीक्षा पास की है। इसी के साथ पंजाब में हो रहे स्थानीय निकाय चुनाव में मनीष सिसोदिया ने कहा कि पंजाब के स्थानीय निकाय चुनावों में जनता आम आदमी पार्टी को उम्मीद से देख रही है, क्योंकि उन्होंने दिल्ली में AAP का काम देखा है। आपने सभी को देख लिया एक बार अरविंद केजरीवाल जी की राजनीति को मौका दें।

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दिल्ली सरकार ने अगस्त महीने में ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लाइव हुए थे। इस दौरान उन्होंने कहा था कि कोरोना की वजह से शिक्षा और अर्थव्यवस्था सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। मुझे और सरकार को कई जगह से शिकायत मिल रही है कि कुछ स्कूल बढ़ा चढ़ाकर फीस ले रहे हैं। सरकार से बिना इजाजत लिए फीस बढ़ा रहे हैं। कई जगह से शिकायत मिल रही है कि स्कूल एनुअल चार्ज ले रहे हैं ट्रांसपोर्टेशन चार्ज ले रहे हैं, जबकि इस समय ट्रांसपोर्ट तो चल ही नहीं रहा। एक नहीं तीन-तीन महीने की फीस मांग रहे हैं। इस पर उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आदेश दिया है कि किसी भी प्राइवेट स्कूल को वह चाहे सरकारी जमीन पर चल रहा है वह या गैर सरकारी पर चल रहा हो उसको फीस बढ़ाने की इजाजत नहीं दी जा सकती. सरकार से पूछे बिना कोई भी स्कूल फीस नहीं बढ़ा सकता चाहे वह कोई भी स्कूल हो।