कोरोना के इलाज में एड ऑन मेडिसिन के रूप में होम्योपैथिक दवाइयां भी होंगी शामिल

 

केंदीय मंत्री ने लोकसभा में दी है जानकारी

लोकसभा में एक लिखित जवाब में युवा मामलों और खेल मंत्री व आयुष मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार रखने वाले वाले किरेन रिजिजू ने बताया कि अंग्रेजी दवाओं और होम्योपैथी सहित मानक देखभाल में ऐड-ऑन की अनुमति मिली है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने शुक्रवार को सदन में बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के उपचार में मानक देखभाल के लिए ऐड-ऑन के रूप में होम्योपैथी दवाओं के उपयोग की अनुमति देने के लिए आयुष मंत्रालय की सलाह को बरकरार रखा है। लोकसभा में एक लिखित जवाब में युवा मामलों और खेल मंत्री व आयुष मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार रखने वाले वाले किरेन रिजिजू ने बताया कि अंग्रेजी दवाओं और होम्योपैथी सहित मानक देखभाल में ऐड-ऑन की अनुमति मिली है।

उन्होंने बताया कि आयुष मंत्रालय ने कोरोना से संबंधित उपचार के लिए होम्योपैथी सहित चिकित्सा की अन्य प्रणालियों की मदद से कई कदम उठाए हैं।

केंद्रीय मंत्री ने 6 मार्च 2020 को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और केंद्रशासित प्रदेशों के मंत्रालय के पत्र का हवाला दिया। जिसमें लोगों की सामान्य प्रतिरक्षा और संभावित आयुष हस्तक्षेपों के बारे में विशिष्ट सुझाव दिए गए थे।

 उन्होंने 31 मार्च 2020 को स्वास्थ्य संबंधी निवारक उपायों और श्वसन स्वास्थ्य के लिए विशेष संदर्भ के साथ प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए जारी किए गए स्व-देखभाल दिशानिर्देशों का भी उल्लेख किया।