सोनू सूद अपने घर मोगा पहुंचकर बने मसीहा, जरूरतमंदों की झोली भर दिखाई उम्मीद की किरण

 

मोगा में जरूरतमंदों को ई रिक्शा बांटने के दौरान अभिनेता सोनू सूद। जागरण

फिल्म अभिनेता सोनू सूद  शुक्रवार को अपने घर मोगा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जरूरतमंदों को उनकी जरूरत का सामान दिया। उन्होंने आर्थिक तंगी में रह रहे लोगों को रोजगार के लिए ई रिक्शा भेंट किए ।

मोगा । फिल्म अभिनेता सोनू सूद  आज शुक्रवार को अपने घर पहुंचे। घर पहुंचने पर एक बार फिर उन्होंने लाचारी व आर्थिक मजबूरी में जीवन जी रहे लोगों की जिंदगी में एक नई रोशनी की किरण बिखेरी। सोनू सूद ने आज अपने निवास पर दोपहर के समय जैसे ही गहरी धुंध के बीच से सूरज बाहर निकला तो कई ऐसे लोगों की जिंदगी में रोशनी बिखेर दी, जिन्हें हर तरफ अंधेरा लग रहा था।

सोनू सूद ने अपने निवास पर जरूरतमंदों को उनकी जरूरत का सामान दिया। इन्हीं में एक डीएम कॉलेज के अजय कुमार हैं, जो आठ साल पहले सड़क हादसे में एक्सीडेंट होने के बाद पूरी तरह से दिव्यांग हो गए थे। बोलने की शक्ति भी चली गई थी। चलने फिरने की शक्ति छिन गई थी। अजय कुमार उसी डीएम कॉलेज मैं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थे जहां कभी उनकी (सोनू सूद) मां प्रोफेसर सरोज सूद अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष थींं।

सोनू ने अजय को अपने निवास पर बुलाया और उनकी पत्नी उषा देवी को ई रिक्शा दिया, क्योंकि अजय का परिवार उनके हादसे के बाद पूरी तरह से टूट चुका था। बा-मुश्किल से अपने परिवार की जिंदगी की जंग लड़ रहे थे। अकेले अजय ही नहीं बल्कि जिंदगी के आखिरी पड़ाव में अपने परिवार की जिंदगी के लिए ई रिक्शा चलाकर तो कभी दूसरे काम कर परिवार की जिंदगी की गाड़ी खींच रहे 60 साल के भाग सिंह जैसे लोग भी हैं जिन्हें ई-रिक्शा मिला है। भाग सिंह कहते हैं ई-रिक्शा मिलने से उनकी कम से कम 2 साल की जिंदगी और बढ़ गई है।