अमेठी में रेल ट्रैक पर मिला पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के भतीजे का शव, मृतक के भाई ने लगाया हत्‍या का आरोप

 

अखिलेश यादव सरकार में परिवहन विभाग के बाद खनन विभाग के कैबिनेट मंत्री रहे अमेठी के गायत्री प्रसाद प्रजापति

अमेठी में शुक्रवार को सुबह रेलवे की पटरी पर गायत्री प्रसाद प्रजापति के 20 वर्षीय भतीजे का शव मिलने के बाद से जिले में खलबली मच गई है। इनके भतीजे का शव अमेठी के बारामासी खेरौना गांव में रेलवे ट्रैक पर मिला है।

लखनऊ। अखिलेश यादव सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे खनन घोटाले के आरोपी गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। इनके भतीजे शुभम (21) का शव आज अमेठी में रेलवे ट्रैक पर मिलने के बाद से जिले में सनसनी फैल गई है।

शुभम गायत्री प्रजापति के सबसे छोटे भाई जगदीश प्रजापति का सबसे छोटा बेटा था। शुभम पूर्व मंत्री के आवास विकास स्थिति आवास पर रहते थे। गुरुवार देर रात तक वह आवास नहींं गये थे। सूचना पर एसपी दिनेश सिंह सीओ अर्पित कपूर प्रभारी निरीक्षक श्यामसुंदर मौके पर पहुंंचे जीआरपी प्रतापगढ़ ने शव को कब्जे में लिया है। घरवाले हत्या की आशंका जता रहे हैं। 

अमेठी में शुक्रवार को सुबह रेलवे की पटरी पर गायत्री प्रसाद प्रजापति के 20 वर्षीय भतीजे का शव मिलने के बाद से जिले में खलबली मच गई है। इनके भतीजे का शव अमेठी के बारामासी खेरौना गांव में रेलवे ट्रैक पर मिला है।

अमेठी के थानाध्यक्ष श्याम सुंदर ने बताया कि शुभम (21) गुरुवार शाम को घर से बाहर निकला था। उसका शव शुक्रवार को रेलवे ट्रैक पर पाया गया था। शव में सिर तथा धड़ अलग-अलग हैं। उन्होंने कहा कि मामला रेलवे पुलिस का है, इसकी जांच जारी है।

गायत्री प्रजापति के छोटे भाई जगदीश प्रसाद प्रजापति का पुत्र शुभम चार भाइयों में सबसे छोटा था। परिजनों के मुताबिक गांव में दो लोगो के यहांं कार्यक्रम थे 11 बजे रात तक वह वहांं पर था। इसके बाद हम लोग यही सोचे कि वह आवास विकास स्थिति पूर्व मंत्री के आवास पर सोने चला गया है। शुभम के भाई अरुण प्रजापति ने आरोप लगाया क‍ि मेरे बड़े पिता पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को विरोधी राजनीतिक साजिश के तहत परेशान कर रहे हैं। मेरे भाई को शराब पिलाकर पंचायत चुनाव की राजनीति में हत्या की गई है। 

अखिलेश यादव सरकार में परिवहन विभाग के बाद खनन विभाग के कैबिनेट मंत्री रहे अमेठी के गायत्री प्रसाद प्रजापति पॉक्सो तथा सामूहिक दुष्कर्म के मामले में इन दिनों लखनऊ जेल में बंद हैं। इनके खिलाफ खनन विभाग में कई करोड़ के घोटाले की जांच के साथ ही आय से अधिक संपत्ति का भी मामला चल रहा है। गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय भी इन दिनों गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ अघोषित संपत्ति की जांच कर रही है।