आपदा में भी यूपी ने बनाया अवसर, GSDP में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य

 

उपलब्धि को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया।

कोरोना के दौर में भी उत्तर प्रदेश सरकार ने काफी तरक्की की और सकल राज्य घरेलू उत्पाद के मामले में देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया। आपदा में अवसर का लाभ लेने में प्रदेश ने केरल कर्नाटक तथा गुजरात को भी पीछे छोड़ा

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद प्रतिकूल समय में भी शांत रहकर अपने काम को काफी बेहतर ढंग से अंजाम देने का उत्तर प्रदेश को बड़ा लाभ मिला है। कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में भी उत्तर प्रदेश सरकार ने काफी तरक्की की और सकल राज्य घरेलू उत्पाद के मामले में देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया।

उत्तर प्रदेश ने केरल, कर्नाटक तथा गुजरात को भी आपदा में अवसर का लाभ लेने में पीछे छोड़ा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में सकल राज्य घरेलू उत्पाद( जीएसडीपी) के मामले में देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। कोरोना वायरस संक्रमण काल में भी उत्तर प्रदेश ने तरक्की का कीॢतमान बनाया है। उत्तर प्रदेश, 19.48 लाख करोड़ रुपए के साथ सकल राज्य घरेलू उत्पाद के मामले में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। उत्तर प्रदेश ने इस मुकाम को पाने के लिए तमिलनाडु, केरल, गुजरात व कर्नाटक को पीछे छोड़ दिया है। इससे पहले उत्तर प्रदेश 2019-2020 में पांचवें स्थान पर था।

2020-2021 में तीन पायदान की छलांग लगाकर उत्तर प्रदेश ने तमिलनाडु के साथ अपनी स्थिति बदली। जीएसडीपी सूची में महाराष्ट्र 30.7 लाख करोड़ रुपए के साथ सबसे ऊपर है, इसके बाद यूपी का 19.48 लाख करोड़ रुपए है। तमिलनाडु जो बीते वर्ष नम्बर 2 पर था, अब 19.2 लाख करोड़ रुपए के साथ तीसरे स्थान पर फिसल गया। कर्नाटक ने 18 लाख करोड़ रुपए जीएसडीपी दर्ज किया है। वह चौथे स्थान पर है जबकि पांचवें स्थान पर गुजरात है, जिसकी जीएसडीपी 17.4 लाख करोड़ रुपए है।

जीएसडीपी सूची में उत्तर प्रदेश की प्रभावशाली चढ़ाव को आंशिक रूप से योगी आदित्यनाथ के कोरोनावायरस के प्रकोप से निपटने को भी श्रेय दिया जा सकता है। देश में सबसे अधिक आबादी वाले राज्यों में से एक होने के बावजूद, उत्तर प्रदेश ने सीमा के भीतर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त की है। उत्तर प्रदेश की जीएसडीपी ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में 19.48 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार कर लिया है। इस बड़ी उपलब्धि से उत्तर प्रदेश 2019-20 में पांचवें स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचा है।

इस उपलब्धि को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि वैश्विक महामारी कोरोना जनित आॢथक मंदी के उपरांत भी उत्तर प्रदेश, सकल राज्य घरेलू उत्पाद के मामले में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। यह आदरणीय प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन एवं समस्त प्रदेशवासियों के परिश्रम का सुफल है। सभी को हाॢदक बधाई। उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्तर पर सशक्त प्रभाव छोडऩे के लिए सुॢखयों में रहा है और व्यापार करने में आसानी से दूसरी रैंक पर पहुंच गया है। उत्तर प्रदेश किसान सम्मान निधि वितरण में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला राज्य घोषित किया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीते बुधवार को विधानसभा में घोषणा की थी कि राज्य सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2.37 करोड़ किसानों को लाभान्वित करने के लिए केंद्र सरकार से प्रमाण पत्र प्राप्त किया है।