पंजाब में मतदान के आखिरी एक घंटे कोरोना positive मरीज भी डाल सकेंगे वोट

 


कोरोना काल में हो रहे स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयोग ने कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं।
निकाय चुनाव में वोटिंग के दौरान लोगों को कोरोना के नियमों का ध्यान रखना होगा। इसके लिए महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग लाइन बनाई जाएगी जबकि मास्क पहनना हर किसी के लिए अनिवार्य किया गया है।

बठिंडा, कोरोना काल में हो रहे स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयोग ने कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं। 14 फरवरी को सुबह आठ से शाम चार बजे तक होने वाली वोटिंग के दौरान कोरोना पाजिटिव मरीज भी अपने मत का प्रयोग कर सकेंगे, लेकिन कुछ नियमों का पालन करते हुए। इसके तहत जारी एसओपी के प्वाइंट नंबर 15.3 में स्पष्ट किया गया है कि अगर कोई वोटर कोरोना पाजिटिव है और वोट करना चाहता है तो वह वोटिंग के दिन आखिरी एक घंटे में मतदान कर सकता है। हालांकि कोरोना पाजिटिव का मतदान करवाने के लिए सेहत विभाग की टीम सुपरविजन करेगी।

इसके अलावा बाकी समय में वोटिंग के दौरान लोगों को कोरोना के नियमों का ध्यान रखना होगा। इसके लिए महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग लाइन बनाई जाएगी, जबकि मास्क पहनना हर किसी के लिए अनिवार्य किया गया है। इसको लेकर एडीसी-डी कम अतिरिक्त जिला चुनाव अफसर परमबीर सिंह ने बताया कि गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना मरीज वोट डाल सकते हैं। मगर जिले में अभी कोरोना मरीजों की गिनती काफी कम है। अगर शहर की बात की जाए तो यहां पर इनकी गिनती नामात्र ही है।  फिर भी मतदान केंद्रों पर सभी प्रबंध किए गए हैं।

कोरोना पाजिटिव वोटर के लिए नियम

- कोरोना पाजिटिव मरीज को वोट करने से पहले शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा।

- मरीज के लिए मास्क व ग्लब्स पहनकर रखना भी जरूरी होगा।

- वोटर की अंगूली पर निशान बिना उसके संपर्क में आए दूरी बनाकर लगाया जाएगा।

- इसके बाद वह फिर से ग्लब्स पहनकर वोट डाल सकेगा।

- उसके वोट करने के बाद ईवीएम मशीन को सैनिटाइज किया जाएगा।

मतदान केंद्र पर बनाकर रखनी होगी शारीरिक दूरी

चुनावों को लेकर शुक्रवार को चुनाव स्टाफ की टीमों को ट्रेनिंग दी गई। शनिवार को उन्हें ईवीएम मशीनें देकर रवाना कर दिया जाएगा। वोटिंग शुरू होने से पहले स्टाफ को मास्क या फेस शील्ड पहनने के अलावा ग्लब्स पहनने होंगे, जबकि प्रीजाइडिंग अफसर यह यकीनी बनाएंगे कि मतदान केंद्र पर भीड़ जमा न हो और वोटरों में शारीरिक दूरी बनी रहे। वहीं स्टाफ को ट्रेनिंग देने के समय भी शारीरिक दूरी बनाकर रखी जाए। अगर कहीं पर पोलिंलग स्टाफ ज्यादा है तो उनको 50-100 के बैच में बांटकर आनलाइन ट्रेनिंग भी दी जा सकती है। इसके अलावा पोलिंग से पहले सभी तैयारियों को एक दिन पहले ही पूरा करना होगा।

 मतदान केंद्र से 200 मीटर दूर बनेंगे पार्टियों के बूथ

मतदान केंद्र पर कमरों को अच्छे तरह से सैनिटाइज करना होगा। फर्निचर उचित दूरी बनाकर सेट करना होगा। वहीं उम्मीदवारों की पार्टियां मतदान केंद्र से 200 मीटर की दूरी पर अपने बूथ लगाएंगी, जहां पर कोरोना के नियमों के अनुसार वह वोटरों को पहचान स्लिप दे सकेंगे।