10 मार्च को 1354 लोग बन जाएंगे फ्लैटों के मालिक, जानिए कैसे चलेगा पता

 


दिल्ली विकास प्राधिकरण ने अपने फ्लैटों की जो स्कीम निकाली थी अब वो उसका ड्रा करने जा रहा है।

एक सप्ताह बाद दिल्ली में हजारों लोगों का अपने अशियाने का सपना साकार होने जा रहा है। दिल्ली विकास प्राधिकरण ने अपने फ्लैटों की जो स्कीम निकाली थी अब वो उसका ड्रा करने जा रहा है। 10 मार्च को इन फ्लैटों का ड्रा होगा।

नई दिल्ली। एक सप्ताह बाद दिल्ली में हजारों लोगों का अपने अशियाने का सपना साकार होने जा रहा है। दिल्ली विकास प्राधिकरण ने अपने फ्लैटों की जो स्कीम निकाली थी अब वो उसका ड्रा करने जा रहा है। 10 मार्च को इन फ्लैटों का ड्रा होगा।

गौरतलब है कि 2 जनवरी को लॉन्च हुई आवासीय योजना 2021 में कुल 1354 फ्लैट हैं। इनमें जसोला और वसंत कुंज के 254 एचआइजी, द्वारका, वसंत कुंज, रोहिणी और जहांगीरपुरी के 757 एमआइजी, द्वारका, रोहिणी, कोंडली- घरोली के 52 एमआइजी तथा मंगलापुरी, द्वारका और नरेला के 291 ईडब्ल्यूएस फ्लैट शामिल हैं। इन फ्लैटों की कीमत 7.55 लाख से 2.14 करोड़ रुपये तक है। 

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके लाइव ड्रा देख सकते हैं। 

अब डीडीए 10 मार्च को इनका ड्रा निकालने जा रहा है। इसके लिए ऐसी व्यवस्था की गई है कि लोग सीधे ड्रा देख भी सकते हैं। डीडीए ने इसके लिए व्यवस्था की है। साथ ही एक लिंक भी शेयर किया है। जो लोग अपनी आंखों के सामने फ्लैट का ड्रा देखना चाहते हैं वो इस पर क्लिक करके उसे देख सकते हैं। ये ड्रा रैडम सिस्टम पर होगा। इस मौके पर जज, डी़डीए के सीनियर आफिसर, आम जनता आदि मौजूद रहेगी। लोग इस पूरे ड्रा को अपने मोबाइल, डेस्कटाप और लैपटाप पर देख सकते हैं।

जनवरी में जब डीडीए ने अपनी आवासीय योजना लांच की थी, उसके मात्र 10 दिन में ही सभी फ्लैटों के लिए आवेदन आ गए थे। यानी जितने फ्लैट थे और उससे अधिक आवेदन आ चुके हैं। एक बात ये भी सामने आ गई थी कि जितने लोगों ने अप्लाई कर दिया है उतने फ्लैट हैं ही नहीं।

न्यू ईयर गिफ्ट के तौर पर डीडीए ने 2 जनवरी को ये योजना लॉन्च की थी, इसके तहत आवेदन करने की आखिरी तारीख 16 फरवरी रखी गई थी, अब इनका ड्रा निकाला जाएगा। ईडब्ल्यूएस फ्लैट के लिए धरोहर राशि 25 हजार, एलआइजी के लिए एक लाख तथा एमआइजी-एचआइजी के लिए दो लाख रुपये है।

डीडीए अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार तक इस आनलाइन योजना के लिए करीब 42 हजार लोग डीडीए की वेबसाइट पर पंजीकरण करा चुके हैं। करीब 6,800 लोग अपना फार्म भर चुके हैं। फ्लैटों की श्रेणी के हिसाब से गौर करें तो एमआइजी और एचआइजी फ्लैटों के लिए 925 लोग दो-दो लाख रुपये जमा करा चुके हैं।

एलआइजी फ्लैटों के लिए 220 लोग एक- एक लाख की अदायगी कर चुके हैं, जबकि ईडब्ल्यूएस फ्लैटों के लिए 25-25 हजार रुपये जमा कराने वालों की संख्या 300 पार कर चुकी है।