पाकिस्तान ने 12 देशों से उड़ानों पर लगाया प्रतिबंध, इस देश को दी छूट

 

पाकिस्तान में आठ महीनों बाद कोरोना के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं।

कोरोना के नए मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सीएए ने दक्षिण अफ्रीका केन्या घाना जाम्बिया रवांडा और बोत्सवाना सहित अफ्रीकी देशों को श्रेणी सी में रखा है और वायरस के प्रसार को रोकने के मद्देनजर यात्रा प्रतिबंध लगाए गए है।

 इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामलों ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। देश में आठ महीने बद सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या के बीच पाकिस्तान ने कोविड-19 मानक संचालन प्रक्रियाओं (SOPs) के तहत 12 अफ्रीकी देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है। इसके साथ ही यूनाइटेड किंगडम से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध को कम कर दिया गया है।

देश के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) के अनुसार, देश में कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए तीन श्रेणियों को तय किया गया है। श्रेणी 'ए' के यात्रियों को कोरोना वायरस परीक्षण की आवश्यकता नहीं होती है, जबकि श्रेणी 'बी' वालों को पाकिस्तान जाने से 72 घंटे पहले पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) परीक्षण की आवश्यकता होती है। वहीं, 'सी' श्रेणी के देशों को पाकिस्तान जाने के लिए देश की राष्ट्रीय कमान और नियंत्रण केंद्र (एनसीओसी) से मंजूरी लेनी पड़ती है।

कोरोना के नए मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सीएए ने शनिवार को एक नई यात्रा गाइडलाइन जारी की। इसमें दक्षिण अफ्रीका, केन्या, घाना, जाम्बिया, रवांडा और बोत्सवाना सहित अफ्रीकी देशों को श्रेणी 'सी' में रखा है और वायरस के प्रसार को रोकने के मद्देनजर यात्रा प्रतिबंध लगाए गए है। इस बीच, सीएए ने यूके को श्रेणी सी से हटा कर 'बी' में डाल दिया है।

नया आदेश 23 मार्च से 5 अप्रैल, 2021 तक लागू रहेगा। नागरिक उड्डयन प्राधिकरण का यह ताजा आदेश एसे समय में आया है जब पाकिस्तान ने हाल के महीनों में कोरोना के मामलों की रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी दर्ज की है। शनिवार को पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के 3,876 नए मामले दर्ज किए हैं, जो आठ महीनों में सबसे अधिक है। इस दौरान वायरस से कम से कम 42 लोगों की मौत भी हई है। देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 6,23,135 पहुंच गई है।