यूपी के प्रयागराज में अभी थमा नहीं जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला, अब तक 13 लोगों की गई जान

 

यूपी के प्रयागराज में जहरीली शराब से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देश के बावजूद प्रयागराज के हंडिया क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार को भी एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इसके साथ ही पिछले छह दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 13 पहुंच गया है।

प्रयागराज। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देश के बावजूद प्रयागराज के हंडिया क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार को भी एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इसके साथ ही पिछले छह दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 13 पहुंच गया है। पुलिस घरवालों से पूछताछ के लिए पहुंची है। मामले में अब तक इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिस वालों और तीन आबकारी कर्मियों को निलंबित किया जा चुका है।

प्रयागराज में हंडिया क्षेत्र के अमोरा गांव निवासी रामानन्द भारतीया 60 वर्ष की शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से मौत हो गई। इस तरह से जहरीली शराब से कुल 13 लोगों की मौत हो गयी। पुलिस घरवालों से पूछताछ के लिए पहुंची है। इससे पहले गुरुवार को हकीमपट्टी गांव को महिला समेत दो लोगों ने दम तोड़ा था। इधर स्वरूपरानी नेहरू और बेली अस्पताल में भर्ती कराए गए सात लोगों की हालत में मामूली सुधार है।

बता दें कि मिलावटी शराब पीने से मृत्यु होने के मामले में आबकारी विभाग ने कार्रवाई तेज कर दी है। इसके मद्देनजर आबकारी इंस्पेक्टर कौशलेंद्र प्रताप को निलंबित किया जा चुका है। इसी मामले में प्रधान आबकारी सिपाही कुवर आनंद सिंह व सिपाही मनीष कुमार सिंह को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए काम में शिथिलता बरतने वाले कुछ और लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

प्रयागराज जिले के हंडिया थाना क्षेत्र के संग्राम पट्टी, दींदा, सराय मंसूर गांव में मिलावटी शराब पीने से 13 लोगों की मृत्यु हो गई है। इस घटना को आबकारी विभाग ने गंभीरता से लिया है। जांच में जिनके कार्य में शिथिलता मिली है, उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। अपर आबकारी आयुक्त प्रशासन दिव्य प्रकाश गिरि ने बताया कि मिलावटी शराब के मामले में अभी तक आबकारी इंस्पेक्टर सहित तीन लोगों को निलंबित किया जा चुका है। कहा कि मिलावटी व अवैध शराब का कारोबार रोकने के लिए विभाग पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। इसीलिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं।