चुनाव पूर्व तमिलनाडु में छापेमारी कर 16 करोड़ की रकम बरामद, पुडुचेरी में भी जब्त किए गए दो करोड़ रुपए

 

सीबीडीटी ने कहा कि पांच प्रतिष्ठानों के पांच ठिकानों पर छापेमारी की गई
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने बताया कि तमिलनाडु और पुडुचेरी में आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए यह कार्रवाई की गई। यह छापेमारी 16 और 17 मार्च को चेन्नई धारापुरम और तिरुप्पुर में की गई है ।

नई दिल्ली, प्रेट्र। आयकर विभाग ने चुनावी राज्य तमिलनाडु में कई प्रतिष्ठानों पर छापेमारी कर 16 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित संपत्ति बरामद की है और लगभग 80 करोड़ के काले धन का पता लगाया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने बताया कि तमिलनाडु और पुडुचेरी में आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए यह कार्रवाई की गई। यह छापेमारी 16 और 17 मार्च को चेन्नई, धारापुरम और तिरुप्पुर में की गई।

कर विभाग के लिए नीतियां बनाने वाले सीबीडीटी ने कहा कि पांच प्रतिष्ठानों के पांच ठिकानों पर छापेमारी की गई। ये प्रतिष्ठान नियमित कारोबार के साथ नगदी का लेन-देन भी करते हैं।

इसके साथ ही चुनावी उड़न दस्ते ने पुडुचेरी में छापेमारी कर दो करोड़ रुपये की नगद राशि जब्त की है। एक वाहन से जब रुपयों को ले जाया जा रहा था, उसी समय छापेमारी कर यह राशि जब्त की गई। इसके अलावा अधिकारियों ने एक मकान से दो करोड़ रुपये का सेट टॉप बॉक्स भी बरामद किया है।

तमिलनाडु और पुडुचेरी में 6 अप्रैल को है चुनाव

बता दें कि तमिलनाडु में 234 विधानसभा सीटें हैं। चुनाव आयोग के अनुसार तमिलनाडु में 2016 विधानसभा चुनाव में 66,007 चुनाव केंद्र थे, 2021 में चुनाव केंद्रों की संख्या 88,936 होगी। यहा भी एक चरण में 6 अप्रैल को मतदान होगा। 2 मई को चुनाव का परिणाम आएगा। 

वहीं, पुडुचेरी में 30 विधानसभा सीटें हैं। चुनाव आयोग के अनुसार, यहां एक चरण में 6 अप्रैल को मतदान होगा। फिलहाल यहां राष्ट्रपति शासन लागू है। पिछले दिनों कांग्रेस-डीएमके गठबंधन वाली सरकार गिर गई थी। वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने विश्वास मत से पहले इस्तीफा दे दिया था। पार्टी के कई विधायकों के इस्तीफा देने के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी। पिछले चुनाव में कांग्रेस को 21 में से 15 सीटें मिली थीं। बहुमत के लिए 16 सीटों की जरूरत रहती है। यहां भी दो मई को चुनाव के परिणाम जारी किए जाएंगे।