23 मार्च को बंगाल के चार दिनी दौरे पर आएगी चुनाव आयोग की पूर्ण पीठ
विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद पूर्ण पीठ का सूबे का यह पहला दौरा होगा

चुनाव आयोग की पूर्ण पीठ 23 मार्च को बंगाल के चार दिनी दौरे पर आएगी। राज्य चुनाव आयोग के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है। पूर्ण पीठ हालांकि इस बार कोलकाता न आकर उत्तर बंगाल का रूख करेगी।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : चुनाव आयोग की पूर्ण पीठ 23 मार्च को बंगाल के चार दिनी दौरे पर आएगी। राज्य चुनाव आयोग के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है। पूर्ण पीठ हालांकि इस बार कोलकाता न आकर उत्तर बंगाल का रूख करेगी। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा उत्तर बंगाल के जिलाधिकारियों के साथ चुनाव की तैयारियों को लेकर महत्वपूर्ण बैठक करेंगे।

बैठक में दक्षिण बंगाल के जिलाधिकारी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़ेंगे। पता चला है कि पूर्ण पीठ बंगाल के हालात का जायजा लेने के बाद 26 मार्च को दिल्ली लौट जाएगी। गौरतलब है कि बंगाल विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद पूर्ण पीठ का यह पहला राज्य का दौरा होगा। पिछले दौरे के समय मुख्य चुनाव आयुक्त ने बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को जरुरी निर्देश दिए थे।

बंगाल में विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद से छिटपुट हिंसा का दौर जारी है। पिछले दिनों नंदीग्राम में मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के चोटिल होने की घटना के बाद से आयोग काफी सतर्क हो गया है। उस मामले में सख्त कार्रवाई करते हुए आयोग ने ममता के सुरक्षा निदेशक को हटा दिया है। बंगाल के लिए एक और विशेष पुलिस पर्यवेक्षक की भी नियुक्ति की जा चुकी है। बंगाल में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा। उससे पहले पूर्ण पीठ सारी तैयारियों का अच्छी तरह से जायजा ले लेना चाहती है।

नंदीग्राम में गुरुवार को हमले की घटना को लेकर भाजपा व तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से एक-दूसरे की शिकायत की है। दोनों दलों का प्रतिनिधिदल राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज आफताब के कार्यालय जाकर उनसे मिला और शिकायती पत्र सौंपकर मामले में कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध किया। 

भाजपा का आरोप है कि नंदीग्राम के सोनाचूड़ा इलाके में केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला किया गया जबकि तृणमूल की तरफ से पलट आरोप लगाते हुए कहा गया है कि सुवेंदु अधिकारी की रैली में शामिल होने आए भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल के लोगों पर हमला किया। इससे पहले बुधवार शाम तृणमूल नेता सम्राट तपादार व गौतम पाल, उनके निजी सुरक्षाकर्मी, चालक और पार्टी के दो स्थानीय सदस्यों पर भी भाजपा के 150 सशस्त्र गुंडों ने हमला किया था। 

दूसरे चरण में कुल 172 उम्मीदवार मैदान में 

दूसरे चरण में कुल 172 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें तृणमूल के 30, भाजपा के 30, बसपा के सात, माकपा के 15, भाकपा के दो, कांग्रेस के नौ, फारवर्ड ब्लाक के दो, अन्य 46 व 33 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। पहले चरण में कुल उम्मीदवारों की संख्या 191 हैं। इसी तरह तीसरे चरण में अब तक 78 व चौथे चरण में 34 नामांकन पत्र जमा पड़े हैं। 

बंगाल के सभी संवेदनशील बूथों पर 100 फीसद केंद्रीय बलों की होगी तैनाती

बंगाल के सभी संवेदनशील बूथों पर 100 फीसद केंद्रीय बलों की तैनाती की जाएगी। बंगाल पहुंचे दूसरे विशेष पुलिस पर्यवेक्षक अनिल कुमार शर्मा की राज्य सचिवालय नवान्न में मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय के साथ हुई बैठक में यह तय किया गया। दोनों के बीच एक घंटे से ज्यादा समय तक बातचीत में मतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर खास जोर देने पर चर्चा हुई। 

अब तक 24.97 लाख का काला धन जब्त 

विधानसभा चुनाव की घोषणा से लेकर अब तक पुलिस ने 24.97 लाख रुपये का काला धन जब्त किया है। इसके अलावा 11.53 करोड़ रुपये मूल्य की शराब और 48.71 करोड़ रुपये मूल्य का मादक पदार्थ भी जब्त किया गया है।