उन 3 खिलाड़ियों के बारे में जिनको पहली बार मिली भारत की वनडे टीम में जगह

 

Prasidh Krishna Suryakumar Yadav और Krunal Pandya को वनडे टीम में चुना गया है

इंग्लैंड के खिलाफ पुणे में होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने टीम का ऐलान कर दिया है। इस टीम में तीन नए खिलाड़ियों को चुना गया है जो पहली बार वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट खेल सकते हैं।

नई दिल्ली, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने इंग्लैंड के खिलाफ पुणे में होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए टीम का ऐलान कर दिया है। ऑल-इंडिया सीनियर सलेक्शन कमेटी ने 18 सदस्यीय टीम चुनी है, जिसमें तीन नए खिलाड़ियों को भी मौका दिया है, जो पहली बार देश के लिए नीली जर्सी में वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते नजर आएंगे। उन्हीं खिलाड़ियों के बारे में आपके लिए जानना जरूरी है कि आखिरकार उनका चयन किस आधार पर हुआ है। वहीं, विजय हजारे ट्रॉफी में 800 से ज्यादा रन बनाने वाले पृथ्वी शॉ और 700 से ज्यादा रन बनाने वाले देवदत्त पडिक्कल को वनडे टीम में मौका नहीं दिया गया है, क्योंकि भारत के पास पहले से ही चार ओपनर मौजूद हैं। 

क्रुणाल पांड्या

4 नवंबर 2018 से 7 नवंबर 2019 तक देश के लिए 18 टी20 इंटरनेशनल खेल चुके ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या को पहली बार भारत की वनडे इंटरनेशनल टीम में जगह मिली है। क्रुणाल पांड्या को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी के प्रदर्शन के आधार पर भारतीय टीम में जगह मिली है। क्रुणाल पांड्या ने विजय हजारे ट्रॉफी में बतौर बल्लेबाज 5 पारियों में 388 रन बनाए थे, जिसमें दो शतक और दो अर्धशतक शामिल थे। 24 मार्च को 30 साल के होने जा रहे बड़ौदा के क्रुणाल ने बतौर गेंदबाज 5 विकेट भी चटकाए थे।

सूर्यकुमार यादव

मुंबई के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले 30 वर्षीय सूर्यकुमार यादव लंबे समय से भारत की सीमित ओवरों की टीम के दावेदार थे, लेकिन अब उनको मौका मिला है। उन्होंने पिछले साल आइपीएल में और फिर सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और फिर विजय हजारे ट्रॉफी(5 मैचों में 332 रन) में जमकर रन बनाए। सूर्या को उसी के प्रदर्शन के आधार पर भारत की वनडे टीम में जगह मिली है। इससे पहले टी20 सीरीज में भी उनको चुना गया था, लेकिन पहले मैच में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। दूसरे मैच में नंबर तीन पर कप्तान विराट कोहली ने उनको भेजा और उन्होंने शानदार अर्धशतक लगाकर दिखा दिया कि वे किसी भी परिस्थिति में रन बना सकते हैं।

प्रसिद्ध कृष्णा 

घरेलू क्रिकेट में तेज गेंदबाजी में प्रसिद्ध कृष्णा का जलवा रहा है, लेकिन भारतीय टीम के पास उस समय मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह जैसे गेंदबाज थे तो उनको मौका नहीं मिला। वहीं, बुमराह और शमी जब उपलब्ध नहीं है तो प्रसिद्ध कृष्णा को पहली बार वनडे टीम में जगह मिली है। हाल ही में समाप्त हुई विजय हजारे ट्रॉफी की बात करे तो उसमें प्रसिद्ध कृष्णा ने कर्नाटक के लिए सात मैचों में 14 विकेट चटकाए थे। 25 वर्षीय ये तेज गेंजबाज घरेलू क्रिकेट में 100 से ज्यादा विकेट चटका चुका है। आइपीएल में वे भी कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अच्छे गेंदबाज साबित हुए हैं। यही कारण है कि उनको वनडे टीम में जगह मिली है।