यूपी में लिस्टेट माफिया की 500 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त कर चुकी सरकार, 180 शस्त्र लाइसेंस निरस्त

 

उत्तर प्रदेश में माफिया व अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई का सिलसिला जारी है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने मुख्तार अंसारी अतीक अहमद खान मुबारक ध्रुव कुमार सिंह सुंदर भाटी अनिल दुजाना व अन्य माफिया व उनके गिरोह से जुड़े अपराधियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत अपराध की काली कमाई से जुटाई गई संपत्तियां जब्त करने की कार्रवाई की है।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में माफिया व अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई का सिलसिला जारी है। माफिया व दुर्दांत अपराधियों पर कार्रवाई कर समाज को संदेश देना चाहती है कि प्रदेश में कानून का राज कायम है।सरकार के निर्देश पर पुलिस ने दो वर्षों में खासकर 25 सूचीबद्ध माफिया के विरुद्ध अभियान के तहत सख्त कार्रवाई की है। इस दौरान माफिया और उनके गुर्गों की 537 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, खान मुबारक, ध्रुव कुमार सिंह, सुंदर भाटी, अनिल दुजाना व अन्य माफिया व उनके गिरोह से जुड़े अपराधियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत अपराध की काली कमाई से जुटाई गई संपत्तियां जब्त करने की कार्रवाई की है। एक जनवरी 2019 से सात मार्च 2021 के बीच इनकी 537 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त की गई है। माफिया, उनके परिवारीजन व सहयोगियों के 180 से अधिक शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराए गए हैं।

बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश में अपराध, अपराधियों और भू-माफिया के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति अभियान के तहत कुल 40 सरगनाओं के अपराधों की कुंडली तैयार की गई थी, जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। योगी सरकार ने पिछले चार वर्षों में बड़े भू-माफिया को चिन्हित कर उनके विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की है और अवैध रूप से कमाई गई उनकी संपत्तियों को जब्त कर चुकी है।

साढे तीन लाख स्थानों पर हुई चेकिंग : डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के निर्देश पर महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा के दृष्टिगत एंटी रोमियो स्क्वाड की सक्रियता बढ़ाई गई है। मिशन शक्ति के तहत एक जनवरी से 15 मार्च के बीच 3.59 लाख से अधिक सार्वजनिक स्थानों, विद्यालय व पार्क में चेकिंग की गई। इस दौरान 14.22 लाख से अधिक लोगों की जांच की गई। सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं से अभद्रता करते मिले आरोपितों के विरुद्ध बड़ी संख्या में कार्रवाई की गई है।