बहराइच में तेंदुए से जान बचाने को किशोर ने 5 म‍िनट तक किया संघर्ष, कंधे में धंसा पंजा; चींखें सुन दौड़े ग्रामीण

 

Leopard attack in Bahraich:घायल किशोर को पीएचसी नेवादा में भर्ती कराया गया।

 बहराइच के रिसियामोड़ थाना क्षेत्र के लालापुरवा नेवादा गांव का मामला। 15 वर्षीय किशोर पर तेंदुए ने किया हमला। घायल किशोर को पीएचसी नेवादा में भर्ती कराया गया। तेंदुए को पकड़ने वनकर्मियों की टीम को मौके पर भेजा गया।

बहराइच,  उत्तर प्रदेश के बहराइच में एक तेंदुए ने वहा से गुजर रहे किशोर पर हमला कर दिया। किशोर जान बचाने के लिए शोर मचाने लगा। करीब पांच म‍िनट तक किशोर ने तेंदुए से संघर्ष किया। इस दौरान उसके कंधे और बांह चोट‍िल हुआ। चीख-पुकार सुनकर आसपास के खेतों में मौजूद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और हांका लगाया। इसके बाद तेंदुआ खेतों में भाग गया। तेंदुए के हमले में घायल किशोर को पीएचसी नेवादा में भर्ती कराया गया है।

किशोर की चींख सुनते ही दौड़े ग्रामीण: मामला थाना क्षेत्र के लालापुरवा नेवादा गांव का है। यहां के निवासी शिवदास का बेटा महेश वर्मा(15) खेत से घर की ओर जा रहा था। कुछ दूर बढ़ते ही गन्ने के खेत में छिपे तेंदुए ने अचानक उस पर हमला कर दिया। जान बचाने के लिए किशोर ने तेंदुए से संघर्ष कर शोर मचाना शुरू किया। चीखने की आवाज सुनते ही पास के खेतों में काम करने वाले ग्रामीण बड़ी संख्या में बालक की ओर भागे। सामने तेंदुए को देखते ही ग्रामीण सहम गए। दर्जनों ग्रामीणों ने हांका लगाया इसके बाद तेंदुए मौके से भागकर गन्ने के खेत में घुस गया। परिवार ने किशोर को पीएचसी नेवादा में भर्ती कराया। चिकित्सकों ने किशोर की हालत खतरे के बाहर बताई है। थानाध्यक्ष अभय सिंह ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों से वार्ता कर तेंदुए को पकड़ने की बात कही गई है। प्रभागीय वनाधिकारी मनीष सिंह ने बताया कि वनकर्मियों की टीम को मौके पर भेजा गया है।

दो दिन पूर्व आंगन में बैठे बच्चे को तेंदुए ने बनाया था निवाला: खैरीघाट थाना क्षेत्र के ग्राम रायगंज के वीरेंद्र कुमार वर्मा के छह वर्षीय पुत्र रवि को शनिवार की रात करीब पौने आठ बजे जंगल से निकले तेंदुए ने हमला कर दिया और उसे बाहर खींच ले गया। शोर मचाने पर ग्रामीण जब तक पहुंचते, तब तक बच्चे की मौत हो गई। हांका लगाने पर तेंदुआ जंगल की ओर भाग गया।