जम्मू-कश्मीर में 6.6 फीसद वैक्सीन हो रही है जाया, अभी तक 5 लाख से अधिक का हुआ टीकाकरण

 

स्वास्थ्य निदेशक जम्मू डा. रेनू शर्मा का कहना है कि लगातार टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा रही है।

 जम्मू-कश्मीर के टीकाकरण अधिकारी डा. काजी हारूण का कहना है कि जम्मू-कश्मीर में टीकाकरण करवाने वालों में उत्साह है। जाया होने वाली वैक्कीन अभी सात फीसद से कम है। इसे बुरा नहीं कहा जा सकता है।

जम्मू, राज्य ब्यूरो: जम्मू-कश्मीर में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर अब उत्साह नजर आ रहा है लेकिन इसमें एक चिंताजनक तथ्य भी जुड़ गया है। जम्मू-कश्मीर उन राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हो गया है जहां पर वैक्सीन अधिक जाया हो रही है। जम्मू-कश्मीर में इस्तेमाल हो रही वैक्सीन से कुल 6.6 फीसद अभी तक जाया हो चुकी है। वहीं अच्छी बात यह है कि जम्मू-कश्मीर में वीरवार को रिकार्ड 43 हजार लोगों ने एक ही दिन में टीकाकरण करवाया।

जम्मू-कश्मीर राष्ट्रीय औसत से थोड़ी सी अधिक वैक्सीन जाया हो रही है। राष्ट्रीय स्तर पर यह औसत 6.5 फीसद है। लेकिन जम्मू-कश्मीर में यह 6.6 फीसद है। जम्मू-कश्मीर के टीकाकरण अधिकारी डा. काजी हारूण का कहना है कि जम्मू-कश्मीर में टीकाकरण करवाने वालों में उत्साह है। जाया होने वाली वैक्कीन अभी सात फीसद से कम है। इसे बुरा नहीं कहा जा सकता है। हालांकि उन्होंने यह कहा कि सभी टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीन का सही उपयोग करने के निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में इसमें कमी देखने को मिलेगी।

वहीं वीरवार का दिन टीकाकरण के लिहाज से अच्छा रहा। एक दिन में 43 हजार से अधिक लोगों ने टीकाकरण करवाया। पिछले तीन दिनों में ही एक लाख बीस हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण हो गया है। इनमें वरिष्ठ नागरिक, 45 से 59 साल आयु वर्ग के वे लोग जो किसी बीमारी से जूझ रहे हैं वे तथा दूसरी डोज लेने वाले स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं।सिर्फ जम्मू जिले में ही नौ हजार से अणिक लोगों ने टीकाकरण करवाया। वीरवार को टीकाकरण करवाने वालों में उपराज्यपाल के सलाहकार फारूक खान भी शामिल थे। उन्होंने राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में टीकाकरण करवाया।

वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में टीकाकरण अभियान में और तेजी आएगी। स्वास्थ्य निदेशक जम्मू डा. रेनू शर्मा का कहना है कि लगातार टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा रही है। इससे भी लोग टीकाकरण केंद्रों में ओ रहे हैं।