पाकिस्तान में 74 साल पुराने हिंदू मंदिर में तोड़फोड़, पुनर्निर्माण और मरम्मत का चल रहा था काम

 

मंदिर के पुनर्निर्माण और मरम्मत का काम चल रहा था।

10 से 12 लोगों ने मंदिर में तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया। इससे मंदिर के बाहरी हिस्से में दरवाजों और सीढ़ियों को नुकसान पहुंचा है। मंदिर के प्रशासक ओम प्रकाश ने कहा कि इस घटना के बाद उनके घर के साथ ही मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

रावलपिंडी, एजेंसी। पाकिस्तान में एक और हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई है। रावलपिंडी के पुराना किला इलाके में स्थित 74 साल पुराने मंदिर में हमला किया गया। पुलिस प्रशासन ने बताया कि बानी गाला थाने में इस संबंध में केस दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक पिछले महीने से इस मंदिर के पुनर्निर्माण और मरम्मत का काम चल रहा था। इसके चलते मंदिर में फिलहाल पूजा-पाठ और धार्मिक अनुष्ठान नहीं हो रहे थे। मंदिर में देवी-देवताओं की मूर्तियां भी नहीं थीं।

रावलपिंडी के उत्तरी जोन के सहायक सुरक्षा अधिकारी सैयद रजा अब्बास ने कहा कि 10 से 12 लोगों ने मंदिर में तोड़फोड़ की। इससे मंदिर के बाहरी हिस्से में दरवाजों और सीढ़ियों को नुकसान पहुंचा है। निर्माण कार्य में भी बाधा आई है। मंदिर के प्रशासक ओम प्रकाश ने कहा कि इस घटना के बाद उनके घर के साथ ही मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हिंदू समुदाय ने पाकिस्तान सरकार से उनके पूजा स्थलों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों पर हमला कोई नई बात नहीं है। पिछले साल दिसंबर में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक मौलवी के उकसावे पर भीड़ ने एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर को तोड़ दिया था। बाद में स्थानीय सरकार ने मंदिर का पुनर्निर्माण कराने की घोषषणा की थी। इसके अलावा हिंदुओं पर हमले और हिंदू ल़़डकियों को अगवा कर उनके साथ जबरन निकाह की घटनाएं भी आम हैं।