विधानसभा घेराव के लिए चंडीगढ़ में शिअद का मार्च, पुलिस ने बेरिकेड लगाकर रोका

 


विधानसभा घेराव के लिए जाते अकाली। जागरण

शिरोमणि अकाली दल ने सरकार की नीतियों के खिलाफ विधानसभा घेराव के लिए मार्च शुरू कर दिया है। अकाली कार्यकर्ता सेक्टर 25 से जैसे ही विधानसभा की ओर कूच करने के लिए आगे बढ़ने लगे पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

चंडीगढ़। सेक्टर 25 स्थित ग्राउंड में शिरोमणि अकाली दल ने रैली की। इसके बाद अकाली कार्यकर्ताओं ने पंजाब विधानसभा के घेराव के लिए कूच शुरू किया, लेकिन पुलिस ने बेरिकेड्स लगाकर उन्हें सेक्टर 25 के पास ही रोक दिया है। अकाली कार्यकर्ता आगे बढ़ने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें आगे नहीं जाने दे रही। मौके पर माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। 

इससे पूर्व, रोष रैली में शिअद ने कहा है कि पंजाब सराकर पेट्रो पदार्थों पर टैक्‍स में 50 फीसद की कटौती करे। इससे राज्‍य के लोगों को राहत मिलने के साथ ही केंद्र सरकार पर भी टैक्‍स कम करने का दबाव बनेगा। पार्टी प्रधान सुखबीर बादल ने इस दौरान कैप्टन सरकार को जमकर घेरा। साथ ही 2022 के विधानसभा चुनावों के लिए अकाली दल के मुद्दों पर भी बात की। 

सुखबीर बादल ने कहा कि आज से जंग शुरू हो गई है। मैं न सोऊंगा और न आप (सरकार) को सोने दूंगा। 12 मार्च से सुखबीर 117 विधानसभा क्षेत्रों में भ्रमण करेंगे। सुखबीर ने कहा कि उनकी सरकार बनने पर पंजाब में बिजली के बिल आधे कर देंगे। सब्जियों और फलों पर भी एमएसपी होगा। एससी बीसी के विद्याथियों को मुफ्त शिक्षा, सभी गांव में सीमेंट की सड़कें व पक्की नलियांं बनेंंगी। टैक्स स्ट्रक्चर को इतना आसान बनाया जाएगा कि व्यापारी को सरकारी दफ्तर में जाने की जरूरत न पड़े। सुखबीर बादल ने पंजाब सरकार पर ही निशाना साधा। केंद्र सरकार के खिलाफ सुखबीर ने कुछ भी नहीं बोला। इससे पूर्व रैली में पार्टी के वरिष्‍ठ नेता प्रेम सिंह चंदूूमाजरा ने कहा कि कैप्‍टन सरकार को राज्‍य में पेट्रोल व डीजल की कीमतों में कमी के लिए कदम उठाना च‍ाहिए।

चंडीगढ़ सेक्टर 25 में शिअद की रैली शुरू, सरकार के खिलाफ विधानसभा का करेंगे घेराव   

यह रैली पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार द्वारा चुनावी वादे पूरे नहीं करने को लेकर आयोजित की है। रैली में मंच पर पार्टी के सभी प्रमुख नेता मौजूद हैं। रैली के मंच पर पूर्व मंत्री बीबी उपेंद्रजीत कौर, जत्थेदार तोता सिंह, गुलजार सिंह रणीके, प्रोफेसर प्रेस सिंह चंदूमाजरा, बलविंदर सिंह भुंदर आदि उपस्थित रहे।

पूर्व सासंद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि पंजाब सरकार को पेट्रोलियम पदार्थों के टैक्स में 50 फीसदी कटौती करनी चाहिए। ताकि केंद्र सरकार पर दबाव बनाने लायक हो सके। इसमें  शिरोमणि अकाली दल कांग्रेस के साथ चलेगी। उन्होंने कहा कि आने वाले बजट में किसानों के सारे कर्ज को कैप्टन सरकार तुरंत माफ करेंं। रैली में युवा भी काफी संख्‍या में हैं।

शिराेमणि अकाली दल का आरोप हैै कि राज्य में न तो किसानों के कर्ज माफ हुए और न ही एससी विद्यार्थियों को स्कालरशिप मिली। बेरोजगारों को 2500 रुपये भत्ता नहीं मिला तो सरकारी कर्मचारियों को तो भत्ते ही नहीं मिले। सरकार 7000 करोड़ रुपये के भत्ते दबा कर बैठी है। इससे पहले आज पंजाब विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत हुई। इसमें अकाली विधायकों ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान राज्यपाल गो बैक के नारे लगाए। अकाली विधायकों ने राज्यपाल के अभिभाषण की प्रतियां भी फाड़ डाली।