महाराष्ट्र और केरल के बाद कर्नाटक में भी तेजी से बढ़ने लगे कोरोना के मामले, मुख्यमंत्री ने बुलाई इमरजेंसी बैठक

 

महाराष्ट्र और केरल के बाद कर्नाटक में बढ़ने लगे कोरोना के मामले। (फोटो: दैनिक जागरण)

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश के 9 राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसमें महाराष्ट्र और केरल के साथ अब पंजाब दिल्ली गुजरात हरियाणा मध्य प्रदेश कर्नाटक और तमिलनाडु शामिल हैं। कर्नाटक में 921 मामले सामने आए हैं।

बेंगलुरू, प्रेट्र। देश में एक बार फिर से कोरोना संकट बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र और केरल के साथ अब पंजाब, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में भी मामले बढ़ने लगे हैं। इसको मिलाकर कुल 9 राज्यों में कोरोना का संकट गहराता जा रहा है। कर्नाटक में एक दिन में कोरोना के मामले हजार की तरफ बढ़ने लगे हैं। कर्नाटक में अचानक बढ़ते जा रहे कोरोना के मामलों ने मुख्यमंत्री की चिंता बढ़ा दी है। इसको लेकर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने एक आपात बैठक बुलाई है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार(15 मार्च) को राज्य में कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए अधिकारियों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ एक अहम बैठक बुलाई है। ये बैठक शाम 5 बजे विधानसभा में की जाएगी। कर्नाटक में 22 जनवरी के बाद शनिवार को राज्य में पहली बार कोरोना के मामले 900 के पार पहुंच गए। यहां शनिवार को एक दिन में 921 नए मामले सामने आए। राज्य में कोरोना की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री ने कल बैठक बुलाई है। 

कर्नाटक में शनिवार को आए कोरोना के कुल 921 मामलों में से अकेले बेंगलुरू के शहरी जिले से 630 मामले सामने आए। बीते सोमवार से कर्नाटक में अब तक कुल 4300 नए मामले सामने आ चुके हैं। इससे कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 9 लाख 59 हजार 338 हो गया है। यहां अब तक कुल 12,387 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

कोरोना केस के मामलों में मैसूरु दूसरे स्थान पर है। कन्नड़ में 43, तुमकुरु ने 38, कलाबुरागी ने 35, बीदर ने 15, बेंगलुरु ग्रामीण और उडुपी ने 13 और हसन में 11 मामले सामने आए हैं। चार जिले - चामराजनगर, हावेरी, कोप्पल और रमनगरा - शून्य मामले वाले हैं। राज्य में अब तक कुल 1.97 करोड़ कोरोना सैंपलों का परीक्षण किया गया है, जिसमें से 72,650 शनिवार को किए गए हैं।