गिरफ्तारी के बाद धरने पर बैठे मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, चुनावी अभियान के लिए जा रहे थे चित्तूर

 

TDP नेता व पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू गिरफ्तार

चुनाव अभियान के लिए चित्तूर जा रहे TDP नेता व पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को रेनीगुंटा में तिरुपति एयरपोर्ट पर रेनीगुटा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद TDP नेता तिरुपति एयरपोर्ट पर विरोध प्रदर्शन के लिए बैठ गए।

हैदराबाद, एएनआइ। चुनाव अभियान के लिए चित्तूर जा रहे TDP नेता व पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को रेनीगुंटा में तिरुपति एयरपोर्ट पर रेनीगुटा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद TDP नेता तिरुपति एयरपोर्ट पर विरोध प्रदर्शन के लिए बैठ गए।  धरने पर दो घंटे तक बैठे चंद्रबाबू नायडू को तिरुपति एयरपोर्ट से बाहर जाने पर रोक दिया गया और एक नोटिस थमा दिया गया। रेनीगुंटा सब डिवीजनल पुलिस अफसर ने उन्हें नोटिस दिया। पूर्व मुख्यमंत्री ने पुलिस से अपील की कि उन्हें एयरपोर्ट से बाहर जाने दिया जाए, हालांकि काफी विनती करने के बाद भी उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया गया। इसपर नायडू और पुलिस में काफी चर्चा  भी हुई।  इसके बाद चंद्रबाबू नायडू तिरुपति एयरपोर्ट के अंदर ही फर्श पर धरने पर बैठे गए। एयरपोर्ट के बाहर तनाव का माहौल है। भारी संख्या में TDP के कार्यकर्ता एयरपोर्ट पहुंच रहे हैं। 

बता दें कि तिरुपति में उपचुनाव होने वाला है। जगनमोहन रेड्डी की सरकार बनने के बाद से TDP और YCP के बीच तनाव का माहौल बना हुआ है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पूर्व मुख्यमंत्री नायडू को एयरपोर्ट पर रोक दिया गया हो। इससे पहले भी एक बार नायडू को एयरपोर्ट पर रोक दिया गया था, जिसके बाद एयरपोर्ट पर काफी विवाद हुआ था। 

उल्लेखनीय है कि चित्तूर जिले में टीडीपी अध्यक्ष पुलिवर्थी वेंकटमणि प्रसाद की ओर से प्रदर्शन का आयोजन किया जाना था, जिसमें नायडू के शामिल होने की भी बात कही गई थी, लेकिन पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी।चित्तूर में सोमवार सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक विरोध प्रदर्शन के आयोजन की योजना बनाई गई थी।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘कोविड-19 को लेकर बनाए गए नियमों के तहत अधिक संख्या में लोगों के जमावड़े की अनुमति नहीं है। स्थानीय निकाय के चुनाव के लिए आचार संहिता लागू है। यह सिर्फ एक चुनाव प्रचार नहीं है, बल्कि इस कार्यक्रम की प्रकृति के उग्र होने की संभावना है, ऐसे में इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती।’