महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के बाद बेंगलुरू में लॉकडाउन लगाने की चेतावनी

 

बेंगलुरू में सीमित लॉकडाउन लगाने की चेतावनी। (फोटो: दैनिक जागरण)

कर्नाटक में बेंगलुरू कोरोना संक्रमण का सबसे बड़ा केंद्र बना हुआ है। शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक यहां अकेले एक दिन में 1000 से ज्यादा कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं। यहां स्थिति बिगड़ रही है।

बेंगलुरू, आइएएनएस।  देश में कोरोना संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र, पंजाब, मध्य प्रदेश, केरल, कर्नाटक जैसे राज्यों पर है। महाराष्ट्र और केरल  के बाद अब कर्नाटक  भी कोरोना वायरसप्रभावित राज्यों में शामिल होता नजर आ रहा है। राज्य में लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं। बीते एक महीने में राज्य में मरीजों की संख्या लगभग दोगुनी से ज्यादा हो गई है।

देश में महाराष्ट्र के नागपुर और मध्य प्रदेश के इंदौर, भोपाल और जबलपुर में लॉकडाउन का ऐलान हो चुका है। इस बीच बेंगलुरू में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। शुक्रवार(19 मार्च) को जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार बेंगलुरू में कोरोना के 1000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद बेंगलुरू में भी लॉकडाउन को लेकर चेतावनी जारी की गई है। 

शहर में बढ़ते कंटेनमेंट जोन के मद्देनजर बेंगलुरु के नगर आयुक्त एन मंजूनाथ प्रसाद ने शुक्रवार को संकेत दिया कि यदि लोग कोरोना से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन करने में फेल रहते हैं तो सरकार के पास बेंगलुरु में कम से कम आंशिक लॉकडाउन लागू करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वे कर्नाटक सरकार को जिम बंद करने, स्विमिंग पूल, कम्युनिटी ऑल, पार्क और थिएटर में ओपन-एयर जिम को बंद करने की सिफारिश करने पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने पहले ही बेंगलुरु नागरिक निकाय के अधिकारियों और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ इसको लेकर चर्चा शुरू कर दी है।

कर्नाटक में फैले कोरोना वायरस का का बेंगलुरू केंद्र बना हुआ है। शुक्रवार को शहर में 1,037 नए मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद यहां कुल मामलों की संख्या 4,15,447 और सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 8,623 हो गई है।दिसंबर के बाद से पहली बार राज्य की राजधानी में 1,000 मामले दर्ज किए गए। 

मध्य प्रदेश में एक दिन का लॉकडाउन

मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर और जबलपुर में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक यानी कुल 32 घंटे का लॉकडाउन लगाने का एलान किया गया है। 31 मार्च तक इन तीन शहरों में स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे। इस दौरान आवश्यक सेवाएं और उद्योग चालू रहेंगे। बिना अनुमति सामाजिक समारोह भी नहीं आयोजित किए जाएंगे।

महाराष्ट्र में फिर से लॉकडाउन की चेतावनी

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि कोरोना को काबू करने के लिए राज्य में फिर से लॉकडाउन लगाना एक विकल्प है। फिलहाल महाराष्ट्र में सिर्फ नागपुर शहर में सख्त लॉकडाउन 15 से 21 मार्च तक लगाया गया है।