दिल्ली के लाखों लोगों के लिए जारी रहेंगी मुफ्त बिजली-पानी समेत कई योजनाएं

 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की फाइल फोटो।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह ऐतिहासिक बजट है। हमारे पास आय कम हो गई थी और खर्च ज्यादा बढ़ गए थे हम ऐसा अनुमान लगा रहे थे कि बजट कम राशि का हो सकता है। बावजूद इसके बजट की राशि 6 फीसद बढ़ाई गई है।

नई दिल्ली , दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार ने मंगलवार को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 69,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। इस बजट में एक बार फिर दिल्ली सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य को तरजीह दी है। इसके अलावा, वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट में कुछ अहम और बड़े एलान भी किए हैं।इसके बाद दिल्ली विधानसभा में पेश किए गए दिल्ली के 2021-22 के बजट को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेसवार्ता भी की। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने सभी वर्गों को ध्यान में रखकर ये बजट पेश किया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि यह ऐतिहासिक बजट है। हमारे पास आय कम हो गई थी और खर्च बहुत ज्यादा बढ़ गए थे, हम ऐसा अनुमान लगा रहे थे कि बजट कम राशि का हो सकता है। बावजूद इसके बजट की राशि 6 फीसद बढ़ाई गई है। यह दिल्ली वालों के सहयोग से सम्पन्न हो सका है। निशुल्क वाली सभी सुविधाएं जारी रहेंगी। बजट में शिक्षा के लिए एक चौथाई राशि शिक्षा पर खर्च होगा, जबकि बजट की 14 फीसद राशि स्वास्थ्य पर खर्च होगी।

अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा है कि वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने विजन दिया है कि 2048 का ओलंपिक दिल्ली में होना चाहिए। इस पर काम किया जाएगा। शिक्षा को जनांदोलन बनाया जाएगा। यूथ फार एजुकेशन के जरिए साधनहीन लोगों को शिक्षा दिलाई जाएगी। इसके अलावा, दिल्ली में पहली बार महिलाओं के लिए महिला मोहल्ला क्लीनिक बनाए जाएंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी पिछले कई सालों से मुफ्त बिजली और पानी की योजना चला रही है। इतना ही नहीं, पिछले डेढ़ साल से भी अधिक समय से डीटीसी बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा की स्कीम भी जारी है।