मध्य प्रदेश के कई शहरों में लॉकडाउन, महाराष्ट्र में नई गाइडलाइंस जारी... जानें बाकी राज्यों के ताजा हाल

 

मध्य प्रदेश के तीन शहरों इंदौर, भोपाल और जबलपुर में 32 घंटों का लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया है।

देश में कोरोना वायरस  के मामले पिछले साल की तरह एक बार फिर तेजी से बढ़ रह है। इस बीच महाराष्ट्र तमिलनाडु पंजाब दिल्ली गुजरात कर्नाटक और हरियाणा में कोरोना के नए मामलों ने सरकारों की टेंशन बढ़ा दी है।

नई दिल्ली। दिल्ली और महाराष्ट्र समेत देश के आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इनमें से महाराष्ट्र, केरल और पंजाब में सबसे अधिक केस मिल रहे हैं। पिछले तीन दिनों में ही एक लाख से अधिक संक्रमित पाए गए हैं। बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्यों सरकारों ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। मध्य प्रदेश के तीन शहरों इंदौर, भोपाल और जबलपुर में 32 घंटों का लॉकडाउन लगाया गया है। वहीं, महाराष्ट्र सरकार ने नागपुर में लॉकडाउन को 31 मार्च तक बढ़ा दिया है, जबकि गुजरात और पंजाब के कई शहरों ने नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इस दौरान कई राज्यों ने स्कूल और कॉलेज को भी बंद करने का आदेश जारी किया है।

तीनों शहरों में 32 घंटे का लॉकडाउन

कोरोना महामारी की रफ्तार को रोकने के लिए मध्य प्रदेश के तीनों शहरों भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लॉकडाउन लगाया गया है, जो शनिवार रात 10 बजे से शुरू हो चुका है और सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा। यह लॉकडाउन हर रविवार को लगाया जाएगा। इस दौरान केवल इमरजेंसी सेवाएं ही चालू रहेंगी। इसके अलावा इन तीनों शहरों के सरकारी और निजी स्कूलों में 31 मार्च तक कक्षाएं नहीं लगेंगी। हालांकि, इस दौरान आानलाइन पढ़ाई होगी। विभाग के उपसचिव प्रमोद सिंह ने तीनों जिलों के कलेक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी को आदेश जारी किया है कि कोरोना वायरस का संक्रमण ब़़ढने के कारण इन जिलों के सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में शिक्षण बंद रहेगा। हालांकि, सभी प्रकार की परीक्षाएं, जिनमें प्रतियोगी परीक्षाएं भी शामिल हैं, पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होंगी।

नागपुर में 31 तक बढ़ा लॉकडाउन

कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र सबसे उपर है। राज्य सरकार ने बढ़ते मामलों को देखते हुए नागपुर में जारी लॉकडाउन को कुछ रियायतों के साथ 31 मार्च तक बढ़ा दिया है। पहले 21 मार्च तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया था। इसके साथ ही पुणे, औरंगाबाद समेत कई जगहों पर पहले ही नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। इस बीच राज्य सरकार ने कहा है कि 10वीं और 12वीं की परीक्षा ऑफलाइन कराई जाएगी यानी छात्र-छात्राओं को परीक्षा केंद्र जाना होगा। पुणे के कोंधावा थाने में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के 37 कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोरोना के दिशानिर्देशों का उल्लंघन का केस दर्ज किया गया है। राज्य में मामलों के बढ़ने के बाद भी लोग लापरवाह बने हुए हैं। मुंबई के दादर बाजार और शिवाजी पार्क में लोगों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है।

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के बाद बेंगलुरू में लॉकडाउन लगाने की चेतावनी !

गुजरात में दिन का कफ्र्यू नहीं

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रपाणी ने कहा है कि गुजरात में दिन का कफ्र्यू नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण को रोकने के लिए मास्क और टीकाकरण ही उपाय है। उन्होंने बताया कि अहमदाबाद में 'सुपर स्प्रेडर' माने जाने वाले सब्जी बिक्रेताओं, दवा के दुकानदारों, किरानावालों, ऑटो रिक्शा चालक, सैलून वालों की जांच शुरू कर दी गई है। बता दें कि कोरोना नई लहर को देखते हुए गुजरात सरकार ने अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में 31 मार्च तक नाइट कर्फ्यू लगाया है। सूरत में मामलों में तेजी को देखते हुए नाइट कफ्र्यू के समय को बढ़ा कर रात 9 बजे से सुबह छह बजे तक कर दिया गया है।

पंजाब में एक दिन में 39 मौतें

पंजाब में एक दिन में सर्वाधिक 39 लोगों की मौत हो गई, जो कि इस साल में सबसे ज्यादा है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए राज्य सरकार ने सरकारी और निजी अस्पतालों में टाली जा सकने वाली सर्जरी पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है। वहीं, राज्य के 11 जिलों में पहले ही मेडिकल कालेजों को छोड़ कर सभी शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए हैं। इसके अलावा लुधियाना, पटियाला, होशियारपुर, जालंधर, कपूरथला, रोपड़, मोगाइन, मोहाली, अमृतसर, एसबीएस नगर और फतेहगढ़ साहिब में रात 9 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू है।