छोटे कपड़े पहन कर आने वाले इस मंदिर में नहीं कर सकेंगे प्रवेश

 

संवाददाता।  उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा महिलाओं के जींस पहनने पर दिए गए बयान के बाद अब गुजरात के शामलाजी मंदिर प्रबंधन ने दर्शन करने आने वालों से बरमूडा व छोटे कपड़े नहीं पहनकर आने की अपील की है। उत्तर गुजरात के अहमदाबाद उदयपुर हाईवे पर गुजरात-राजस्थान की सीमा पर बने ऐतिहासिक शामलाजी मंदिर प्रबंधन ने मंदिर के बाहर एक बोर्ड लगाया है, जिसमें लिखा है कि मंदिर के दर्शन करने आने वाले युवक तथा युवतियां बरमूडा हाफ पैंट जैसे छोटे कपड़े पहन कर नहीं आए। मंदिर प्रबंधन ने स्पष्ट कहा कि छोटे वस्त्र पहन कर आने वालों को मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। हालांकि बरमूडा में स्कर्ट जैसे वस्त्र पहनकर आने पर मंदिर ने यह भी स्पष्ट किया कि उन्हें प्रबंधन की ओर से धोती दी जाएगी, जिसे पहन कर ही मंदिर के अंदर प्रवेश करने दिया जाएगा और दर्शन करने देंगे।

गौरतलब है कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने हाल ही में महिलाओं के फटी हुई जींस पहनने को संस्कार से जोड़ते हुए कहा था कि ऐसी महिलाएं बच्चों को क्या संस्कार देंगी। इसके बाद से दिल्ली, मुंबई व बेंगलुरु सहित देश के कई शहरों के चर्चित चेहरे सामाजिक कार्यकर्ता वह बॉलीवुड के सितारे उनके इस बयान का विरोध कर रहे हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद तीरथ सिंह रावत शुक्रवार को पहली बार दिल्ली पहुंच रहे हैं, वे यहां भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात करेंगे। संभवत है अपने जींस वाले बयान के संबंध में भी वह पार्टी के अध्यक्ष के समक्ष अपनी सफाई देंगे। 

कांग्रेस ने गुरुवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत पर फटी जींस वाली टिप्पणी के जरिये उनकी महिला विरोधी मानसिकता के लिए निशाना साधा। पार्टी ने कहा कि वह या तो देश की महिलाओं से माफी मांगें या पद से इस्तीफा दें। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि रावत की टिप्पणी भाजपा के महिला विरोधी चेहरे को प्रदर्शित करती है, जो उनकी मध्यकालीन मानसिकता का परिणाम है। पार्टी नेता अलका लांबा ने कहा, ये पहली बार नहीं है कि भाजपा के किसी नेता ने इस तरह का बयान दिया है। यह सोचा-समझा बयान है जो संघ, भाजपा और संवैधानिक पदों पर बैठे उनके नेताओं की सोच को दर्शाता है।