यमन में युद्ध के हालात चिंताजनक, भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चिंता जताई
यमन में युद्ध के हालात चिंताजनक, भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चिंता जताई
संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप स्थाई प्रतिनिधि नागराज नायडू ने कहा कि यमन के कई शहरों में जो हालात हैं उससे नागरिकों के हताहत होने विध्वंस और पलायन की स्थिति बन रही हैं। यमन के कई क्षेत्रों में युद्ध की स्थितियां और बढ़ रही हैं।

न्यूयॉर्क, प्रेट्र। भारत ने यमन में बढ़ती युद्ध की स्थितियों पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चिंता जताई है। भारत ने कहा है कि वर्तमान हालात आतंकी संगठनों की मौजूदगी और सक्रियता को बढ़ावा देंगे।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप स्थाई प्रतिनिधि नागराज नायडू ने कहा कि यमन के कई शहरों में जो हालात हैं, उससे नागरिकों के हताहत होने, विध्वंस और पलायन की स्थिति बन रही हैं। यमन के कई क्षेत्रों में युद्ध की स्थितियां और बढ़ रही हैं। विशेषतौर पर मरीब में, जहां आंतरिक रूप से बड़े पैमाने पर पलायन हो रहा है।

इन स्थितियों से आतंकी संगठनों के सक्रिय होने की आशंका बढ़ गई है। अलकायदा और इस्लामिक स्टेट ऐसे में अपनी सक्रियता को तेजी से बढ़ा सकते हैं, जो चिंताजनक है। भारत ने सऊदी अरब में तेल क्षेत्रों और नागरिकों की रिहाइश में मिसाइल और ड्रोन के हमलों पर भी चिंता जताई। भारत ने कहा कि इन स्थितियों में सभी पक्षों को हिंसा कम करने के प्रयास तेज करने होंगे।

बता दें कि बीते दिन यमन के हाउती विद्रोहियों ने सऊदी अरब में फिर बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया। ईरान समर्थित इस संगठन ने गत सात मार्च को भी ड्रोन और मिसाइलों से इस खाड़ी देश के तेल ठिकाने को निशाना बनाया था। तेल कंपनी अरैमको के एक रिहायशी परिसर पर भी हमला किया था। जबकि सऊदी ने इस हमले को विफल करने की बात कही थी।