दक्षिणी दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर लग रहा जाम, ये है इसकी बड़ी वजह

दिन में व्यस्त समय में भी जाम लगा रहता है।

डीसीपी ट्रैफिक विक्रम सिंह ने बताया कि भैरव मंदिर पर ज्यादा भीड़ होने पर या जाम लगने पर समय-समय पर स्थानीय पुलिस बैरिकेडिंग आदि करती है। हम लोग बाटलनेक पर काम कर रहे हैं। कई बाटलनेक को सुधारा भी गया है और जाम की समस्या से निजात दिलाई गई है।

नई दिल्ली । दक्षिणी दिल्ली का सबसे व्यस्त मार्ग आउटर रिंग रोड अव्यवस्था, अतिक्रमण व इसके कारण जगह-जगह बन रहे बाटलनेक की वजह से जाम के भंवर में फंस गया है। इस मार्ग के मोदी मिल फ्लाईओवर से नेहरू प्लेस तक करीब एक किलोमीटर के हिस्से का तो और ही बुरा हाल है। एनएसआइसी (नेशनल स्माल इंडस्ट्रीज कारपोरेशन) व भैरव मंदिर पर बने फुट ओवरब्रिज (एफओबी) के कारण यहां सड़क की चौड़ाई कम हो गई है, जिससे यहां बाटलनेक बन रहा है।

इन दोनों एफओबी को सड़क पर काफी अंदर करके बनाया गया है, जबकि इनके बाएं तरफ काफी जगह खाली पड़ी है। हाल यह है कि पीछे से आ रही चौड़ी सड़क यहां एकदम संकरी हो जाती है। इससे रात में हादसे का खतरा तो बना रही रहता है, दिन में व्यस्त समय में भी जाम लगा रहता है।

वहीं, भैरव मंदिर केसामने व यहां स्थित पेट्रोल पंप के कारण भी लोगों को जाम का सामना करना पड़ रहा है। भैरव मंदिर के पास एफओबी व अतिक्रमण से बना बाटलनेक : ओखला से नेहरू प्लेस जाने वाले मार्ग पर बने भैरव मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के वाहन, पूजा सामग्री दुकानों व आसपास बैठे भिखारियों की वजह से यहां भयंकर जाम लग जाता है।

यह जाम पीछे कालकाजी मंदिर फ्लाईओवर, मोदी मिल फ्लाईओवर के साथ ही कैप्टन गौड़ मार्ग व मां आनंदमयी मार्ग पर गो¨वदपुरी मेट्रो स्टेशन तक पहुंच जाता है। भैरव मंदिर पर आने वाले श्रद्धालु अपने वाहन सड़क पर ही खड़े करके मंदिर में चले जाते हैं। वहीं, कुछ लोग सड़क पर ही भंडारा लगाकर प्रसाद बांटने लगते हैं, जससे जाम लग जाता है।

नवरात्रि के दौरान व हर शनिवार को तो भैरव मंदिर के सामने यातायात और बदहाल हो जाता है। शनिवार को यहां पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन, भंडारा करने व प्रसाद बांटने आते हैं। इससे मंदिर के सामने सड़क की दो लेन तो इन्हीं लोगों के वाहनों से घिर जाती है। राहगीरों की बार-बार शिकायत के बावजूद समस्या का समाधान नहीं निकला।

वहीं, हर शुक्रवार को कालकाजी मंदिर में भी बड़ी संख्या में भक्त आते हैं। वे भी अपने वाहन रोड पर ही खड़ा कर देते हैं। इससे नेहरू प्लेस से ओखला जाने वाले मार्ग पर लंबा जाम लग जाता है। सीएनजी भरवाने वालों की सड़क पर लग जाती है लंबी कतार भैरव मंदिर के बगल में स्थित पेट्रोल पंप व सीएनजी पंप पर तेल व गैस भरवाने के लिए आने वाले वाहन चालक सड़क पर ही कतार लगाकर खड़े हो जाते हैं। इस कारण भी यहां पर जाम लग जाता है। वहीं, मंदिर के बगल बने रास्ते से कालकाजी से आउटर रिंग रोड आने वाले वाहन भी यहीं से मुड़ते हैं, जिससे ओखला से नेहरू प्लेस की ओर जाने वाले वाहनों की रफ्तार थम जाती है।

सड़क को घेरे हैं एफओबी

एनएसआइसी व भैरव मंदिर पर बने एफओबी की वजह से सड़क की करीब एक लेन घिर गई है। इसकी वजह से इन दोनों प्वाइंट पर बाटलनेक बन रहा है। अगर इन एफओबी को थोड़ा और बाईं ओर बनाया गया होता तो यह समस्या नहीं होती। इन एफओबी के कारण पैदल यात्रियों को भले ही सुविधा हो गई हो, लेकिन वाहन चालकों के लिए ये एफओबी मुसीबत बने हुए हैं।

एग्जिक्यूटिव इंजीनियर ने बताया कि ये दोनों एफओबी काफी पहले के बने हुए हैं। फिलहाल अभी इनके पिलर्स को शिफ्ट करना तो संभव नहीं है। इस तरह की समस्याओं के समाधान के लिए पीडब्ल्यूडी की ओर से कंसल्टेंट नियुक्त किए गए हैं जो राजधानी की प्रमुख सड़कों के री-डिजाइनिंग के लिए काम कर रहे हैं। कंसल्टेंट की रिपोर्ट के आधार पर राजधानी की सड़कों से जाम की समस्या का समाधान निकाला जाएगा। कंसल्टेंट यह भी देख रहे हैं कि री-डिजाइ¨नग में फुटपाथ, सेंट्रल वर्ज व डिवाइडर आदि की चौड़ाई क्या रखी जाए।

डीसीपी ट्रैफिक विक्रम सिंह ने बताया कि भैरव मंदिर पर ज्यादा भीड़ होने पर या जाम लगने पर समय-समय पर स्थानीय पुलिस बैरिकेडिंग आदि करती है। हम लोग बाटलनेक पर काम कर रहे हैं। कई बाटलनेक को सुधारा भी गया है और जाम की समस्या से निजात दिलाई गई है। इन दोनों प्वाइंट को भी देखकर इनका समाधान का प्रयास किया जाएगा।