दुस्साहसिक कृत्य: पाकिस्तान में हिंदू पत्रकार की हत्या, हेयर कटिंग करा रहे थे तभी अचानक...

 

दुस्साहसिक कृत्य: पाकिस्तान में हिंदू पत्रकार की हत्या, हेयर कटिंग करा रहे थे तभी अचानक...

हेयर कटिंग करा रहे पत्रकार पर हमलावरों ने ताबड़तोड़ बरसाई गोलियां। अमेरिकी संगठन ने घटना पर चिंता जताई और सख्त कार्रवाई की मांग की। पत्रकार अजय की हत्या के विरोध में पत्रकारों ने विरोध प्रदर्शन किया। स्थानीय कारोबारियों ने भी अपनी दुकानें बंद रखीं।

कराची, प्रेट्र। अल्पसंख्यकों खासकर हिंदुओं पर अत्याचार के लिए बदनाम पाकिस्तान में फिर चिंता बढ़ाने वाली एक घटना सामने आई है। इस देश के सिंध प्रांत में एक हिंदू पत्रकार की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों ने पत्रकार पर उस समय ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई, जब वह एक सैलून में हेयर कटिंग करा रहे थे। अमेरिका के न्यूयॉर्क स्थित संगठन कमेटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट (सीपीजे) ने घटना पर गंभीर चिंता जाहिर करते हुए हत्यारों को खोज निकालने और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

न्यूज इंटरनेशनल अखबार में शनिवार को प्रकाशित खबर के अनुसार, सिंध के सुक्कूर शहर में रहने वाले 31 वर्षीय अजय ललवानी एक स्थानीय टेलीविजन स्टेशन और एक उर्दू अखबार में बतौर रिपोर्टर काम करते थे। वह गुरुवार को जब एक सैलून में बैठे थे तो उसी दौरान दो बाइक और एक कार से हमलावर पहुंचे और उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। अजय को तुरंत पास के एक अस्पताल में पहुंचाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

उनके पेट, हाथ और घुटने में गोलियां लगी थीं। पुलिस ने शुक्रवार को अज्ञात हमलावरों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है। अजय के पिता दिलीप कुमार ने बताया कि उनके परिवार की किसी से दुश्मनी नहीं थी। उन्होंने निजी दुश्मनी के चलते हत्या होने के पुलिस के दावे को खारिज किया है। इधर, पाकिस्तानी संसद नेशनल असेंबली के हिंदू सदस्य लाल चंद ने हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि यह गंभीर चिंता की बात है।

पत्रकारों ने किया विरोध प्रदर्शन

अजय के अंतिम संस्कार के बाद स्थानीय पत्रकारों के एक समूह ने विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने हत्या के लिए सुक्कूर पुलिस को जिम्मेदार ठहराया। अजय की हत्या के विरोध में स्थानीय कारोबारियों ने भी अपनी दुकानें बंद रखीं।