मोबाइल फोन का प्रत्येक अंक करेगा रेल यात्र‍ियों की सहायता, यहां देखें क‍िस नंबर को दबाने से क्‍या सुविधा म‍िलेगी

 

एक अप्रैल से रेलवे में एक ही नंबर पर मिलेंंगी सारी सुविधाएं।

वर्तमान में रेलवे ने अलग-अलग कार्य के लिए अलग अलग नंबर जारी क‍िया है। सुरक्षा से संबंधित सहायता सूचना के लिए 182 ट्रेन से संबंधित जानकारी के लिए 139 ट्रेन में समस्या के लिए 138 जैसे कई नंबर थे। पहली अप्रैल से रेलवे में केवल 139 चालू रहेगा।

मुरादाबाद । ट्रेन संबंधित कोई जानकारी लेनी हो, भ्रष्टाचार से संबंधित शिकायत करनी हो या ट्रेन में खाना मंगाना हो, आपके मोबाइल का प्रत्येक अंक इसमें सहायता करेगा। रेलवे पहली अप्रैल से सभी प्रकार के नंबर बंद करने जा रहा है। केवल 139 सेवा चालू रहेगी। रेलवे ने नई सेवा के प्रति लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है।

वर्तमान में रेलवे ने अलग-अलग कार्य के लिए अलग अलग नंबर जारी क‍िया है। सुरक्षा से संबंधित सहायता सूचना के लिए 182, ट्रेन से संबंधित जानकारी के लिए 139, ट्रेन में समस्या के लिए 138 जैसे कई नंबर थे। पहली अप्रैल से रेलवे में केवल एक ही नंबर 139 चालू रहेगा। शेष सभी नंबर बंद कर द‍िए जाएंगे। रेलवे ने बिना प्रतीक्षा किए ही ट्रेन की जानकारी लेने या शिकायत दर्ज कराने की सुविधा उपलब्ध कराई है। इसके लिए मोबाइल के एक से लेकर नौ नंबर तक प्रत्येक कार्य के लिए आवंटित क‍िए गए हैं। उदाहरण के लिए अगर आपको ट्रेन यात्रा के दौरान इलाज की सुविधा चाहिए तो पहले 139 डायल करे, घंटी जाते ही एक डायल कर दें। कॉल सेंटर के अधिकारी को ट्रेन नंबर, कोच नंबर, सीट नंबर की जानकारी देकर इलाज कराने की सुविधा मांग सकते हैं। इस व्यवस्था के बाद कॉल सेंटर के कंप्‍यूटर के निर्देश को सुनने और उसका पालन करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस सिस्टम पर अंग्रेजी-हिंदी के अलावा 12 अन्य भारत के क्षेत्रीय भाषा सुनने व सूचना देने की जानकारी होगी। इसी नंबर पर रेलवे के भ्रष्टाचार की शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। अगर आपको किस नंबर के दबाने से क्या सुविधा मिलेगी, इसकी जानकारी नहीं है तो मोबाइल का * (एस्टेरिस्क) दबा दें, यह सीधे काल सेंटर के अधिकारी से जोड़ देगा और अधिकारी आपकी समस्या का तत्काल समाधान करने, सूचना देने व शिकायत दर्ज करने में मदद करेंगे। आइआरसीटीसी के जनसंपर्क अधिकारी एके झा ने बताया कि एक अप्रैल से केवल 139 नंबर चालू रहेगा, रेलवे अन्य नंबर को बंद कर देगा। इसका व्यापाक पैमाने पर प्रचार किया जा रहा है। प्रत्येक कार्य के लिए एक अलग अलग नंबर है।

139 के बाद किस नंबर को डायल करने से क्या सुविधा मिलेगी, यहां देखें सूची

- सुरक्षा व मेडिकल सहायता के लिए एक दबाएं

- ट्रेन से संबंधित पूछताछ, पीएनआर, खाना, किराया, व्हीलचेयर के लिए दो दबाएं

- ट्रेन में गंदी, सफाई व यात्रा के दौरान अन्य समस्या के लिए चार दबाएं

- रेल कर्मियों की भ्रष्टाचार के लिए पांच दबाएं

- पार्सल व सामान संबंधी पूछताछ के लिए छह दबाएं

- तेजस, भारत दर्शन, पर्यटन स्पेशल ट्रेन के लिए सात दबाएं

- शिकायत पुस्तिका में दर्ज कराने के लिए नौ दबाएं

- कॉल सेंटर के अधिकारियों से बात करने या सहायता के लिए * (एस्टेरिस्क) दबाएं