सब्जी बेचने वाला ये शख्स बना आंध्र प्रदेश के नगर पालिका का अध्यक्ष, ऐसे बदली किस्मत

 

सब्जी बेचने वाला ये शख्स बना आंध्र प्रदेश के नगर पालिका का अध्यक्ष। (फोटो: एएनआइ)

आंध्र प्रदेश के रायचोटी नगर पालिका (Rayachoty Municipality) के नव-निर्वाचित अध्यक्ष शेख बाशा (Sheik Basha) की कहानी सभी को प्ररेणा दे रही है। बेरोजगारी से परेशान डिग्री धारक शेख बाशा (Sheik Basha) अपने गांव में सब्जी बेचने को मजबूर थे।लेकिन अब उनकी किस्मत बदल गई है।

नई दिल्ली, एएनआइ। आंध्र प्रदेश के रायचोटी नगर पालिका के नव-निर्वाचित अध्यक्ष शेख बाशा  की कहानी सभी को प्ररेणा दे रही है। इस पद के लिए वाइएसआरसीपी  द्वारा उनका चुनाव किया गया है। बेरोजगारी से परेशान डिग्री धारक शेख बाशा  अपने गांव में सब्जी बेचने को मजबूर थे लेकिन अचानक उनकी किस्मत बदल गई। गुरुवार को बाशा को मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने रायचोटी नगर पालिका का अध्यक्ष चुना। इसके बाद बाशा ने इस शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। 

डिग्री होने के बाद भी सब्जी बेचने को थे मजबूर

शेख बाशा ने खुशी जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी की वजह से वह रायचोटी नगर पालिका का अध्यक्ष बन सके हैं। उन्होंने बताया कि डिग्री धारक होने के बावजूद बेरोजगारी के चलते उन्हें सब्जियां बेचनी पड़ीं। उन्होंने बताया कि जीवन में उनकी कोई दिशा नहीं थी, लेकिन वाइएसआर ने उन्हें टिकट देकर उन पर भरोसा जताया। 

मुख्यमंत्री का ऐसे गया शेख बाशा की तरफ ध्यान

वाइएसआर कांग्रेस पार्टी ने शेख बाशा को पार्षद का चुनाव लड़ने का मौका दिया और लोगों ने उन्हें चुनकर पार्टी के फैसले को सही साबित किया। रायचोटी नगर पालिका में पार्टी को मिली बड़ी जीत के बाद जब वाइएसआर के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ने अपने कैंडिडेट के प्रदर्शन पर नजर डाली, तो बाशा ने उनका ध्यान आकर्षित किया। इसके बाद उन्होंने बाशा को नगर पालिका का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया।

बता दें कि वाइएसआर ने राज्य की 86 नगर पालिकाओं/नगर निगमों में से 84 पर कब्जा किया है।  यहां पर देखने वाली बात यह है कि महापौर और अध्यक्षों के चुनाव में महिलाओं को 60.47 फीसद पद और पिछड़े समुदायों को 78 फीसद पद दिए गए हैं। शेख बाशा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने राज्य में पिछड़े समुदाय के लोगों को सबसे ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने का मौका प्रदान किया और इसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए कम हैं। उन्होंने कहा कि हम सब उनके आभारी हैं।