मास्क नहीं पहनने वाले नेताओं के चुनाव पर लगे रोक', दिल्ली HC में दायर हुई याचिका

 

जनहित याचिका में कहा गया है कि नेता और उनके प्रचारक कोविड-19 नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।

दिल्ली हाई कोर्ट में दायर याचिका में इस नियम पर सवाल उठाया गया है कि आम जनता पर तो मास्क न पहनने के लिए जुर्माना लगाया जा रहा है लेकिन चुनावी रैलियों में इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं हो रही।

नई दिल्ली,संवाददाता। दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। इस बीच मास्क को लेकर देशभर के लोगों में लापरवाही देखने को मिल रही है। वहीं, मास्क न पहनने वाले नेताओं के चुनाव पर रोक लगाने की मांग को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। इस जनहित याचिका में कहा गया है कि नेता और उनके प्रचारक कोविड-19 नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। आने वाले दिनों में पश्चिम बंगाल समेत कई बड़े राज्यों में राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं। कई राज्यों में तो चुनाव प्रचार से तेज हो गया है। ऐसे में वहां प्रचार के लिए दिल्ली से भी अलग-अलग पार्टियों के नेता जा रहे हैं। ऐसे में कोरोना के फैलने से नहीं रोका जा सकता।

याचिका में केंद्र सरकार और भारतीय निर्वाचन आयोग को इस संबंध में दिशानिर्देश जारी करने की भी मांग की गई है। साथ ही कहा गया है कि चुनाव आयोग को चुनाव की घोषणा करते समय मास्क पहनने के संबंध में अधिसूचना जारी करनी चाहिए। डॉक्टर विक्रम सिंह की तरफ से दायर इस जनहित याचिका में कहा गया है कि फेस मास्क की अनिवार्यता को लेकर चुनाव आयोग को भी पत्र लिखा गया था, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके चलते ही हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है, ताकि केंद्र और चुनाव आयोग के लिए दिशानिर्देश जारी कराए जा सकें।

याचिका में इस नियम पर सवाल उठाया गया है कि आम जनता पर तो मास्क न पहनने के लिए जुर्माना लगाया जा रहा है, लेकिन चुनावी रैलियों में इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं हो रही। जबकि वहां पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुटती है। ऐसे में वहां पर कोरोना वायरस संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा रहता है।