चेतेश्वर पुजारा बोले- IPL में वापसी करना मेरे लिए बहुत मायने रखता है

 

चेतेश्वर पुजारा की वापसी आइपीएल में हो रही है

IPL 2021 के लिए ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा को खरीदा था और अब पुजारा ने कहा है कि आइपीएल में उनके लिए वापसी करना बहुत मायने रखता है क्योंकि उनको सिर्फ मल्टी डेज क्रिकेट का स्पेशलिस्ट माना जाता है।

नई दिल्ली। भारतीय टेस्ट टीम के स्पेशलिस्ट बैट्समैन चेतेश्वर पुजारा को आइपीएल 2021 के लिए नीलामी में चेन्नई सुपर किंग्स ने खरीदा था। सीएसके ने उनको एक करोड़ रुपये की बेस प्राइस में खरीदा था। लंबे समय के बाद उनकी आइपीएल में वापसी हो रही है। सात साल के बाद वे आइपीएल खेलते नजर आएंगे। उन्होंने हाल ही में अपनी सफेद गेंद की वापसी और T20 टूर्नामेंट की तैयारियों के बारे में क्रिकबज से बात की।

अपने आखिरी आइपीएल मैच के बारे में बताते हुए पुजारा ने कहा, "यह सुनिश्चित है कि लंबे समय से मैंने नहीं खेला है। मैं किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) का आखिरी हिस्सा था। मेरा आखिरी खेल, मुझे लगता है 2014 में वानखेड़े में मुंबई इंडियंस के खिलाफ था। आइपीएल में वापसी करना मेरे लिए बहुत मायने रखता है। यह दुनिया की सबसे अच्छी लीग है और मैं काफी समय से इसका हिस्सा बनने से चूक गया हूं।"

वहीं, जब उनसे ये पूछा गया कि जब आपको सीएसके ने खरीदा था तो सभी फ्रेंचाइजियों ने तालियां बजाई थीं, इसके जवाब में उन्होंने कहा, "मैं अधिक प्रसन्न नहीं हो सकता था। मैं फ्रेंचाइजियों के उस इशारे पर वास्तव में गर्व महसूस कर रहा हूं और प्रसन्न हूं। यह देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए मिलने वाला सम्मान है। मुझ पर विश्वास दिखाने के लिए मैं फ्रेंचाइजी, श्रीनिवासन और माही भाई (एमएस धोनी) को धन्यवाद देता हूं।"

सीएसके के मालिक एन श्रीनिवासन नए एक बयान में कहा था कि वे उन्हें आइपीएल की नीलामी में अनसोल्ड नहीं रहने देना चाहते थे, क्योंकि वे नेशनल हीरो हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में भारत को टेस्ट सीरीज जिताई थी। इसको लेकर उन्होंने कहा, "उनका यह कहना बहुत ही अच्छा है। मैं ऐसी फ्रेंचाइजी का हिस्सा होने का सौभाग्य महसूस करता हूं, जो राष्ट्रीय टीम के लिए खिलाड़ियों के प्रदर्शन का सम्मान करती है। मैं खुशकिस्मत हूं कि मैं माही भाई की कप्तानी में खेलूंगा जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण करते समय मेरे कप्तान थे। यह मेरे लिए एक भावनात्मक क्षण है।"