100 करोड़ वसूली मामला: महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ CBI ने दर्ज की FIR, छापेमारी जारी


महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ CBI ने दर्ज की FIR

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा 100 करोड़ वसूली मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) और अन्य के खिलाफ लगे आरोपों के संबंध में सीबीआइ ने प्राथमिकी दर्ज की है। इसे लेकर कई जगह छापेमारी भी जारी है

मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख   और अन्य के खिलाफ मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों के संबंध में सीबीआइ (CBI) ने प्राथमिकी दर्ज की है। सीबीआइ इस मामले में विभिन्‍न स्‍थानों पर तलाशी ले रही है। 

बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोपों में घिर जाने के बाद महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री अनिल अनिल देशमुख अपने पद से पहले ही इस्‍तीफा दे चुके है। अनिल देशमुख ने मुख्यमंत्री को दिए अपने इस्तीफे में कहा था कि इतने संगीन आरोप लगने के बाद बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उनका गृह मंत्री के पद पर बने रहना किसी तरह से उचित नहीं है, वह अपना इस्तीफा सौंप रहे हैं। कुछ दिन पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के संबंध में 15 दिनों के अंदर प्रारंभिक जांच का आदेश दिया था।

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने दावा किया था कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को हर माह 100 करोड़ रुपये की वसूली का लक्ष्‍य दिया था। परमबीर सिंह ने अपने पत्र में लिखा था कि 100 करोड़ रुपये के लक्ष्‍य को पूरा करने के लिए मुंबई के बार, पब और रेस्टोरेंट से वसूली करने को कहा गया था। पत्र के अनुसार, इस लक्ष्‍य पर सचिन वाझे ने कहा था कि वो 40 करोड़ रुपये तो पूरा कर सकते हैं लेकिन 100 करोड़ अधिक है। परमबीर सिंह ने दावा किया कि 100 करोड़ का लक्ष्‍य पूरा करने के लिए अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को दूसरे तरीके इस्‍तेमाल करने के लिए कहा था।