मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के 100 दिन के एजेंडे पर परखे जाएंगे विभाग

 

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देश पर ऐसे विभागों के लिए 100 दिन का एजेंडा तैयार किया जा रहा है।

विकास की दौड़ महत्वपूर्ण केंद्रीय योजनाओं को लागू करने और बजट के इस्तेमाल में फिसड्डी विभागों को सरकार सुधारने जा रही है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देश पर ऐसे विभागों के लिए 100 दिन का एजेंडा तैयार किया जा रहा है।

राज्य ब्यूरो, देहरादून: विकास की दौड़, महत्वपूर्ण केंद्रीय योजनाओं को लागू करने और बजट के इस्तेमाल में फिसड्डी विभागों को सरकार सुधारने जा रही है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देश पर ऐसे विभागों के लिए 100 दिन का एजेंडा तैयार किया जा रहा है। इस अवधि में विभागों को ऐसे सभी काम पूरे करने होंगे, जिनमें अड़ंगा नहीं लगा है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बीते मार्च माह में राज्य के सालाना बजट खर्च और इसमें विभागों की प्रगति की समीक्षा की थी। समीक्षा में ये भी पता चला था कि कई विभाग बजट का इस्तेमाल करने में पिछड़े हुए हैं।

केंद्र और राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं को जमीन पर उतारने में विभागों की हीलाहवाली के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने उनके लिए खास एजेंडा तैयार करने को कहा है। जिन योजनाओं और महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की प्रगति काफी धीमी है, उनके लिए 100 दिन की विशेष कार्ययोजना तैयार की जाएगी।विभागों को इसी अवधि में सुस्ती छोड़कर तेजी से अधूरी योजनाओं को पूरा करना होगा। मुख्यमंत्री के सचिव अमित नेगी ने इस संबंध में सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों और प्रभारी सचिवों को आदेश जारी किए हैं। ऐसे विभागों के लिए एजेंडा नियोजन विभाग तैयार करेगा। विभागों को इससे संबंधित आंकड़े जल्द शासन को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत विभागवार इस कार्ययोजना के आधार पर समीक्षा बैठकें करेंगे। इन बैठकों में विभागों को अपनी परफारमेंस का विस्तृत ब्योरा रखना होगा। इसमें किसी भी तरह की हीलाहवाली और ढिलाई सहन नहीं की जाएगी। संबंधित विभागीय अधिकारियों को इसके लिए जवाबदेह बनाया गया है।