हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन का कल आखिरी दिन, 156 पदों के लिए 30 मई को होगा प्रिलिम्स एग्जाम

 

कुल 156 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन की प्रक्रिया 3 मार्च को शुरू हुई थी।
हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा के कार्यक्रम के अनुसार इन पदों के लिए आवेदन का कल आखिरी दिन है। जिन उम्मीदवारों ने अभी तक आवेदन नहीं किया है वे एचपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट hpsc.gov.in पर उपलब्ध कराये गये ऑनलाइन अप्लीकेशन फॉर्म के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क।  हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए जरूरी खबर। हरियाणा लोक सेवा आयोग (एचपीएससी) द्वारा 26 फरवरी 2021 को जारी हरियाणा सिविल सर्विसेस (एग्जीक्यूटिव ब्रांच) और अन्य एलॉयड सर्विसेस एग्जाम 2021 के लिए अधिसूचना जारी की गयी थी। हरियाणा राज्य सरकार की विभिन्न सेवाओं में कुल 156 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन की प्रक्रिया 3 मार्च को शुरू हुई थी। आयोग के कार्यक्रम के अनुसार इन पदों के लिए आवेदन का कल, 2 अप्रैल 2021 को आखिरी दिन है। जिन उम्मीदवारों ने अभी तक आवेदन नहीं किया है, वे एचपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट, hpsc.gov.in पर उपलब्ध कराये गये ऑनलाइन अप्लीकेशन फॉर्म के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन से पहले जानें योग्यता मानदंड

एचपीएससी एचसीएस 2021 नोटिफिकेशन के मुताबिक वे ही उम्मीदवार के पात्र हैं जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या अन्य उच्च शिक्षा संस्थान से किसी भी विषय में स्नातक डिग्री उत्तीर्ण की हो। उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि उन्हें आवेदन की आखिरी तारीख यानि 2 अप्रैल 2021 तक डिग्री उत्तीर्ण किया होना चाहिए, इस तिथि के बाद जारी हुए प्रमाण-पत्र वाले उम्मीदवारों को अयोग्य माना जाएगा।

30 मई को होगा प्रिलिम्स एग्जाम

दूसरी तरफ, एपीएससी द्वारा जारी एक अन्य अपडेट के अनुसार हरियाणा सिविल सर्विसेस (एग्जीक्यूटिव ब्रांच) और अन्य एलॉयड सर्विसेस एग्जाम 2021 के लिए निर्धारित चयन प्रक्रिया के पहले चरण में प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन 30 मई 2021 को किया जाएगा। परीक्षा दो-दो घंटों की दो पालियों में आयोजित की जाएगी, जो कि सुबह 10 बजे और दोपहर 3 बजे शुरू होंगी। परीक्षा में भाषा का माध्यम हिंदी और अंग्रेजी दोनो होगा। प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपर होंगे। पेपर 2 सिर्फ क्वालिफाईंग नेचर को होगा, जिसमें न्यूनतम 33 फीसदी अंक प्राप्त करने जरूरी होंगे। प्रारंभिक परीक्षा में निगेटिव मार्किंग, 0.25 प्रति गलत उत्तर, भी होगी।