21 अप्रैल से शुरू हो रहा है शादियों का सीजन, मेहमानों की संख्या को लेकर जारी हो सकती है गाइडलाइन

 

कोरोना के हालात पर काबू पाने के लिए दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी कई महत्वपूर्ण फैसले ले सकती है।

 दिल्ली में शादी समारोहों व अन्य सार्वजनिक आयोजनों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या और कम जा सकती है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली सरकार इस बारे विचार कर रही है।

नई दिल्ली,संवाददाता। राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में रिकॉर्डतोड़ इजाफा हुआ है। शुक्रवार को तकरीबन पांच माह बाद कोरोना वायरस के मामले 8 हजार से अधिक पहुंच गए। शुक्रवार को 24 घंटे के दौरान कोरोना के 8321 नए मामले सामने आए, जो 149 दिन में सबसे अधिक हैं। इस दौरान 39 मरीजों की मौत हो गई, जो 115 दिन में सबसे अधिक हैं। इससे पहले 11 नवंबर को सबसे अधिक 8593 मामले आए थे। इसलिए कोरोना के नए मामले रिकॉर्ड स्तर के करीब पहुंच गए हैं।

वहीं, हालात पर काबू पाने के लिए दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी कई महत्वपूर्ण फैसले ले सकती है। इस कड़ी में दिल्ली में शादी समारोहों व अन्य सार्वजनिक आयोजनों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या और कम जा सकती है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली सरकार इस बारे विचार कर रही है। अगले कुछ दिनों में इसको लेकर कोई फैसला आ सकता है।

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है, ऐसे में शादी समारोह में महज 100 लोगों के ही शामिल होने की इजाजत है। इस दौरान दूल्हा-दुल्हन को ई-पास दिया जा रहा है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने शादी के मौसम को देखते हुए कहा है कि शादी के लिए अलग से गाइडलाइंस होगी, जिसमें कार्यक्रम में शामिल होने वाले मेहमानों की संख्या सीमित होगी।