देश में कोरोना की सुपर फास्ट स्पीड, 24 घंटे में 93 हजार से अधिक मामले, 513 की मौत

 

देश में अबतक कुल 7,59,79,651 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

 कोरोना वायरस के एक दिन में आने वाले सबसे अधिक मामले पिछले साल सितंबर में आए थे जब 17 सितंबर को संक्रमण के 97894 मामले आए जिसके बाद भारत में संक्रमण के मामले धीरे-धीरे घटने लगे।

नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में कोरोना वायरस की रफ्तार बेकाबू हो गई है। देश में लगातार 25वें दिन नए मामसों में वृद्धि हुई है। रविवार को कोरोना वायरस के 93 हजार से अधिक नए मामले दर्ज किए गए है। पिछले साल 17 सितंबर को देश में कोरोना के एक दिन में सबसे अधिक 97,894 मामले मिले थे, जिसके बाद संक्रमण के मामले धीरे-धीरे घटने लगे। देश में अबतक कुल 7,59,79,651 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ो के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 93,249 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,24,85,509 हो गई है। इस दौरान हुई 513 नई मौतों के बाद कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर 1,64,623 हो गया है।

कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के साथ देश में इस बीमारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में भी लगातार बढ़ रही है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 6,91,597 है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 5.54 प्रतिशत है। वहीं, अबतक 1,16,29,289 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके है। हालांकि स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 93.14 प्रतिशत पर आ गई है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक तीन अप्रैल तक 24 करोड़ 81 लाख 25 हजार 908 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिसमें से 11 लाख 66 हजार 716 नमूनों की जांच शनिवार को की गई। 24 घंटे में जिन 513 लोगों की मौत हुई है उनमें महाराष्ट्र से 277, पंजाब से 49, छत्तीसगढ़ से 36, कर्नाटक से 19, मध्य प्रदेश से 15, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु से 14-14, गुजरात से 13, केरल से 12, दिल्ली और हरियाणा से 10-10 लोगों शामिल हैं।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक तीन अप्रैल तक 24 करोड़ 81 लाख 25 हजार 908 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिसमें से 11 लाख 66 हजार 716 नमूनों की जांच शनिवार को की गई। 24 घंटे में जिन 513 लोगों की मौत हुई है उनमें महाराष्ट्र से 277, पंजाब से 49, छत्तीसगढ़ से 36, कर्नाटक से 19, मध्य प्रदेश से 15, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु से 14-14, गुजरात से 13, केरल से 12, दिल्ली और हरियाणा से 10-10 लोगों शामिल हैं।