दिल्ली से जेवर एयरपोर्ट के बीच चलेगी मेट्रो ट्रेन ! ग्रेटर नोएडा से सिर्फ 25 मिनट में पहुंचेंगे यात्री

 


ग्रेटर नोएडा से सिर्फ 25 मिनट में जेवर स्थित नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंच सकेंगे।

 योजना धरातल पर उतरी तो ग्रेटर नोएडा से सिर्फ 25 मिनट में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंच सकेंगे। यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण और दिल्ली मेट्रो रेल निगम की प्राथमिकता भी यही है कि एनसीआर के अन्य हिस्सों से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को कनेक्टिविटी प्रदान की जाए।

नई दिल्ली/नोएडा, ऑनलाइन डेस्क। सबकुछ ठीक रहा तो दिल्ली से उत्तर प्रदेश के जेवर में बनने जा रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का सफर मेट्रो ट्रेन के जरिये संभव हो सकेगा। इस दिशा में प्रस्ताव पर काम हो रहा है। यह योजना धरातल पर उतरी तो ग्रेटर नोएडा के निवासी तो सिर्फ 25 मिनट में ही जेवर स्थित नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंच सकेंगे। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) की मानें तो नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को नॉलेज पार्क- II के साथ ग्रेटर नोएडा और एनसीआर के अन्य हिस्सों से जोड़ने के लिए तीन विकल्पों मेट्रो लाइट, मेट्रो नियो और मेट्रो एक्सप्रेस को लेकर मूल्याकंन में लगा हुआ है। इस बाबत DMRC ने 2019 का प्रस्ताव खारिज होने के बाद ताजा रिपोर्ट मांगी थी।

इसके तहत 35.6 किलोमीटर का सफर तय करने के लिए डीपीआर में रूट में 25 मेट्रो स्टेशनों का प्रस्ताव दिया गया था। अधिकारियों का कहना है कि नए प्लान के मुताबिक, मेट्रो ट्रेन की रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटा होगा और ग्रेटर नोएडा से सिर्फ 25 मिनट का सफर तय कर नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचा जा सकेगा। इस योजना में बड़ा हिस्सा यानी 32.3 किलोमीटर एलिवेटिड होगा। शिवाजी पार्क मेट्रो स्टेशन से ग्रेटर नोएडा में नॉलेज पार्क-2 तक फास्ट मेट्रो लाने के लिए नया कॉरिडोर बनाए जाने का प्रस्ताव है।

सफर से लोगों को समय बचाने की योजना

इस प्रोजेक्ट के अनुसार, जेवर एयरपोर्ट से दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम तक फास्ट मेट्रो ट्रेन चलाने का है, जिससे दिल्ली की तरफ से एयरपोर्ट आने वाले पैसेंजर आसानी से कम वक्त में पहुंचकर अपनी फ्लाइट पकड़ सकें। यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण और दिल्ली मेट्रो रेल निगम की प्राथमिकता भी यही है कि एनसीआर के अन्य हिस्सों से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को कनेक्टिविटी प्रदान की जाए, वह भी ऐसी हो कि लोग कम समय में गंतव्य तक पहुंच सकें। यहां पर यह बता देना कि दिल्ली से ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क II तक मेट्रो कनेक्टिविटी पहले से मौजूद है। दिल्ली से नोएडा एयरपोर्ट तक कनेक्टिविटी के लिए एक और गलियारे का निर्माण जरूरी हो जाएगा। YEIDA के अधिकारियों की मानें तो ग्रेटर नोएडा से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक हम 5-6 मेट्रो स्टेशनों को योजना के प्रस्ताव में शामिल किया गया है।

यहां पर यह बता देना जरूरी है कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को लेकर ज्यूरिख कंपनी के साथ हुए एग्रीमेंट के तहत, विश्व के चौथे सबसे बड़े एयरपोर्ट की कनेक्टिविट दिल्ली-एनसीआर के सभी महत्वपूर्ण इलाकों से हो, यह जिम्मा यमुना अथॉरिटी का है। ऐसे में दिल्ली को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए डीएमआरसी के साथ बातचीत कई चरणों में हो चुकी है। अधिकारियों के मुताबिक, कई तरह के प्रस्ताव हैं, लेकिन जो बजट और लोगों के मुफीद होगा, उसी पर मुहर लगेगी। डीएमआरसी भी बताएगा कि कैसे दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जोड़ा जा सकता है।

यह है प्रस्ताव

ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क से शिवाजी पार्क स्टेडियम तक फास्ट मेट्रो ट्रेन चलाने के लिए नया मेट्रो रेल कॉरिडोर बनाया जा सकता है।  यह भी बात सामने आ रही है कि शिवाजी पार्क स्टेडियम मेट्रो स्टेशन पहले ही आइजीआई एयरपोर्ट के लिए बनाए गए डेडीकेटेड मेट्रो कॉरिडोर का स्टेशन है। ऐसे में ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-2 तक आने वाली यह लाइन जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को दिल्ली एयरपोर्ट से जोड़ देगी। इससे दिल्ली से नोएडा एयरपोर्ट पहुंचा जा सकेगा। वह भी मेट्रो ट्रेन के जरिये।

एयरपोर्ट परिसर में रुकेगी बुलेट ट्रेन

वहीं, दिल्ली से वाराणसी तक प्रस्तावित बुलेट ट्रेन की कनेक्टिविटी भी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से होगी।इस बुलेट ट्रेन का ठहराव नोएडा एयरपोर्ट में भी प्रस्तावित है। बुलेट ट्रेन से दिल्ली के सरायकाले खां से नोएडा सेक्टर 148 होते हुए एयरपोर्ट तक पहुंचने में मात्र 21 मिनट लगेंगे। कुल 816 किमी लंबा सफर मात्र चार घंटे में पूरा होगा।