विद्रोहियों से मुकाबले में मारे गए चाड के राष्ट्रपति, 30 साल से अधिक का रहा कार्यकाल

 

हत्या से कुछ ही घंटे पहले इदरिस डेबी एक और कार्यकाल के लिए चुने गए थे राष्ट्रपति

तीन दशकों से अधिक समय से देश के राष्ट्रपति रहे इदरिस डेबी विद्रोहियों से मुकाबले के दौरान मारे गए हैं। सेना ने बताया कि डेबी के 37 वर्षीय पुत्र महमत इदरिस डेबी 18 महीने के संक्रमणकालीन परिषद का नेतृत्व करेंगे।

अन जमेना, एपी। मध्य अफ्रीकी देश चाड के राष्ट्रपति इदरिस डेबी मंगलवार को विद्रोहियों से मुकाबले के दौरान मारे गए। वह तीन दशकों से अधिक समय से देश के राष्ट्रपति थे। सेना ने राष्ट्रीय टेलीविजन और रेडियो पर इसका एलान किया। यह खबर ऐसे समय आई, जब कुछ घंटे पहले ही निर्वाचन अधिकारियों ने राष्ट्रपति चुनाव में इदरिस के जीतने की घोषणा की थी। यह चुनाव 11 अप्रैल को हुआ था। इस जीत के साथ इदरिस और छह साल तक अपने पद पर बने रह सकते थे। सेना ने बताया कि डेबी के 37 वर्षीय पुत्र महमत इदरिस डेबी 18 महीने के संक्रमणकालीन परिषद का नेतृत्व करेंगे। साथ ही सेना ने शाम छह बजे से रात्रि कफ्र्यू लगाने की भी घोषणा की।

लड़ाई का मैदान दूर-दराज के इलाके में स्थित रहने के कारण इदरिस की मौत की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है। यह भी पता नहीं चल सका है कि उनकी किन परिस्थितियों में मौत हुई। अभी यह भी ज्ञात नहीं है कि राष्ट्रपति उत्तरी चाड में अग्रिम क्षेत्र में क्यों गए या उनके शासन का विरोध कर रहे विद्रोहियों के साथ संघर्ष में उन्होंने क्यों हिस्सा लिया।

सेना के पूर्व कमांडर-इन-चीफ इदरिस 1990 में सत्ता में आए, जब विद्रोही बलों ने तत्कालीन राष्ट्रपति हिसेन हबरे को पद से हटा दिया। बाद में उन्हें सेनेगल में अंतरराष्ट्रीय अधिकरण ने मानवाधिकारों के उल्लंघन का दोषी ठहराया था। इन वर्षो में इदरिस ने कई सशस्त्र विद्रोह का सामना किया लेकिन उससे पार पाकर सत्ता में बने रहे। उनके खिलाफ इस नई बगावत का नेतृत्व खुद को फ्रंट फार चेंज और कान्कार्ड इन चाड बताने वाला समूह कर रहा है। ऐसा समझा जाता है कि विद्रोही हथियारबंद थे और उन्हें पड़ोसी लीबिया में प्रशिक्षण मिला था। उसके बाद वे 11 अप्रैल को उत्तरी चाड में घुसे।