दिल्ली AIIMS में इमरजेंसी वार्ड एक घंटे के बाद फिर से बहाल, इस वजह से किया गया था बंद

 

दिल्ली में कोरोना के बढ़ रहे मामलों के बीच एम्स में इमरजेंसी वार्ड बंद

एम्स इमरजेंसी वार्ड को फिर से चालू कर दिया गया है। एम्स प्रशासन ने बताया कि कोरोना रोगियों के लिए ऑक्सीजन की बढ़ती आवश्यकता के कारण ऑक्सीजन पाइपलाइनों का पुनर्गठन किया जा रहा था। वर्तमान में लगभग 100 कोविड मरीज पहले से ही इमरजेंसी वार्ड में भर्ती हैं।

नई दिल्ली, संवाददाता। एम्स इमरजेंसी वार्ड को फिर से चालू कर दिया गया है। एम्स प्रशासन ने बताया कि कोरोना रोगियों के लिए ऑक्सीजन की बढ़ती आवश्यकता के कारण ऑक्सीजन पाइपलाइनों का पुनर्गठन किया जा रहा था। वर्तमान में लगभग 100 कोविड मरीज पहले से ही इमरजेंसी वार्ड में भर्ती हैं। एम्स की मुख्य बिल्डिंग में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए दो नए वार्ड बनाए गए हैं। यहां आक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था समेत अन्य सुविधाएं बहाल की जा रही है। बहुत जल्द इनमें मरीजों को भर्ती किया जाएगा।

एनसीआर के जिलों में भी कोरोना हुआ बेकाबू

शुक्रवार को इस क्षेत्र में 6889 नए कोरोना संक्रमित मिले और 30 मरीजों की मौत हुई है। गुरुग्राम, फरीदाबाद और सोनीपत में संक्रमितों की संख्या और मौतें ज्यादा हैं। जबकि रेवाड़ी, नारनौल, नूंह और पलवल में स्थिति थोड़ी नियंत्रण में है। गुरुग्राम जिले में 4319 संक्रमित मरीज मिले और नौ मरीजों की मौत हुई। जबकि फरीदाबाद जिले में 1450 मरीज मिले और आठ मरीजों की मौत हुई है। सोनीपत की बात करें तो 782 नए संक्रमित सामने आए हैं और छह मरीजों की मौत हुई है।