कोरोना मरीजों की मदद के लिए आगे आ रही आरडब्ल्यूए, कई मरीजों का हो रहा इलाज

 

पुष्प विहार गुरुद्वारे से मरीजों के लिए दोनों टाइम का भोजन व नाश्ता आदि आता है।

आरडब्ल्यूए की ओर से पुष्प विहार स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में आइसोलेशन सेंटर शुरू किया गया है जिसमें कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अभी यहां पर 70 संक्रमितों को रखा गया है। हालांकि यहां पर मामूली लक्षण वाले मरीजों को ही रखा जाता है।

नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण अस्पतालों में बेड से लेकर आक्सीजन व दवाओं की किल्लत हो गई है। ऐसे में वेस्टर्न एवेन्यू रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन, सैनिक फार्म ने कोरोना मरीजों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। आरडब्ल्यूए की ओर से पुष्प विहार स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में आइसोलेशन सेंटर शुरू किया गया है, जिसमें कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अभी यहां पर 70 संक्रमितों को रखा गया है। हालांकि, यहां पर मामूली लक्षण वाले मरीजों को ही रखा जाता है और जरूरत पड़ने पर डाॅक्टर भी बुलाए जाते हैं। लेकिन, इस आइसोलेशन सेंटर से सबसे ज्यादा राहत उन लोगों को मिल रही है जिनके घर काफी छोटे हैं और संक्रमित होने के बाद उन्हें आइसोलेट होने की सुविधा नहीं मिल पाती है। 

वेस्टर्न एवेन्यू रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन, सैनिक फार्म के अध्यक्ष हरदीप भल्ला ने बताया कि सेंटर का पूरा खर्च आरडब्ल्यूए ही उठा रही है। उन्होंने बताया कि यह सेंटर पिछले साल भी खोला गया था। करीब आठ माह की सेवा के बाद जब कोरोना के मामले कम हो गए तो इसे बंद कर दिया गया था, लेकिन अभी संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हएु 15 अप्रैल से इसे फिर से शुरू कर दिया गया है।

पुष्प विहार गुरुद्वारे से आता है भोजन

हरदीप भल्ला ने बताया कि पुष्प विहार गुरुद्वारे से मरीजों के लिए दोनों टाइम का भोजन व नाश्ता आदि आता है। इम्यूनिटी बढ़ाने व इलाज में काम आने वाली दवाइयां ‘रसोई आन व्हील’ संस्था की ओर से उपलब्ध करवाई जाती हैं, वहीं, काढ़ा, हल्दी-दूध व गरम पानी आदि भी डाक्टर की सलाह पर नियमित रूप से दिया जा रहा है।

सुबह-शाम करवाया जा रहा योग, प्राणायाम

आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों के साथ ही संस्था के रतन कोहली व आसिम वधवार की सहायता से इस आइसोलेशन सेंटर में विभिन्न चीजों का इंतजाम किया जाता है। उन्होंने बताया कि इलाज के साथ सभी को सुबह-शाम योग, प्राणायाम भी करवाया जाता है। इसके लिए योग शिक्षक भी नियुक्त किया गया है। सेंटर में भर्ती करने के समय मरीज की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के अलावा उसका आधार कार्ड जमा किया जाता है।