सावधान! इस तरह के फर्जी वीडियो पर न दें ध्‍यान, इनमें नहीं है कोई सच्‍चाई, डब्‍ल्‍यूएचओ ने किया खंडन

 

फर्जी वीडियो पर न दें ध्‍यान डब्‍ल्‍यूएचओ ने किया खंडन

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कुछ वीडियो भी तेजी से सर्कुलेट किए जा रहे हैं जिनमें कोई सच्‍चाई नहीं है। ऐसे ही एक फर्जी वीडियो में कहा गया है कि 15 अप्रैल तक देश में कोरोना से 50 हजार मौत हो सकती हैं।

नई दिल्‍ली (एएनआई)। भारत में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को देखते हुए सोशल मीडिया पर काफी कुछ ऐसा दिखाया जा रहा है जिसमें कोई सच्‍चाई नहीं है। हाल ही में एक वीडियो सामने आया था, जिसमें विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के हवाले से कहा गया था कि भारत में 15 अप्रैल तक इस वायरस के संक्रमण से 50 हजार मौत हो सकती हैं। वीडियो के मुताबिक संगठन ने इसको लेकर भारत को आगाह किया था। लेकिन अब वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन के रिजनल ऑफिस फॉर साउथ ईस्‍ट एशिया की तरफ से इस वीडियो का खडंन करते हुए इसको झूठा करार दिया गया है। संगठन की तरफ से कहा गया है कि इस वीडियो में कोई सच्‍चाई नहीं है और न ही संगठन ने इस तरह की कोई चेतावनी जारी की है।

आपको बता दें कि भारत में दो दिन पहले कोरोना संक्रमण के एक दिन में एक लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। बीते एक वर्ष में ये सबसे अधिक है। पिछले वर्ष एक ही दिन में सबसे अधिक 97 हजार मामले सामने आए थे। इस बार कोरोना की दूसरी लहर ने पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। इसको देखते हुए केंद्र और राज्‍य सरकारें पूरी तरह से सजगह हैं। कई राज्‍यों में कोरोना की इस लहर को देखते हुए स्‍कूल-कॉलेजों को बंद कर दिया गया है और साथ ही कुछ राज्‍या में आंशिक लॉकडाउन भी लगाया गया है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में वैक्‍सीनेशन में भी तेजी आई है। स्‍वास्‍‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक देश भर में अब तक 83110926 लोगों को वैक्‍सीनेट किया जा चुका है। महाराष्‍ट्र जहां पर सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं वहां पर अब तक 8127248 लोगों को कोरोना की दो डोज दी जा चुकी हैं। इसी तरह से गुजरात में वैक्‍सीन की 7689507, राजस्‍थान में 7299305, उत्‍तर प्रदेश में 7198372, पश्चिम बंगाल में 6541370 दी जा चुकी हैं।