कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, मध्‍य प्रदेश में बढ़ाया गया लॉकडाउन

 

मध्‍य प्रदेश सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मध्‍य प्रदेश सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है। सभी शहरों में शनिवार और रविवार का वीकेंड लॉकडाउन है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी जिला प्रशासन के जरिए डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की।

भोपाल, एजेंसी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मध्‍य प्रदेश सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है। फिलहाल सभी शहरों में शनिवार और रविवार का वीकेंड लॉकडाउन है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को मध्यप्रदेश के सभी जिला प्रशासन के जरिए डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की।

इस बैठक के बाद यह फैसला लिया गया कि इंदौर व उज्जैन शहर, बड़वानी, राजगढ़, विदिशा जिलों के सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 19 अप्रैल सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा। बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी जिलों (शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों) और जबलपुर शहर में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रेल की सुबह तक 10 दिनों का लॉकडाउन रहेगा और इंदौर के पास राऊ नगर, महू नगर, शाजापुर शहर और उज्जैन जिले में 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है। इससे पहले शिवराज सरकार ने आदेश दिया था कि समस्त नगरीय क्षेत्रों में 8 अप्रैल से आगामी आदेश तक प्रत्येक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू लागू रहेगा। अब सप्ताह में पांच दिन सरकारी कार्यालय खुले रहेंगे।

महाराष्‍ट्र से आने वालों की आवाजाही बढ़ी 

उधर, महाराष्ट्र से लगते बुरहानपुर और बड़वानी जिले में भी किराये के वाहनों से श्रमिक लौट रहे हैं। अन्य दिनों के मुकाबले इनकी संख्या बढ़ी है। महाराष्ट्र से बसों की आवाजाही पर रोक की वजह से बड़वानी जिले की सेंधवा सीमा पर लोग स्थानीय वाहनों या पैदल सफर कर सेंधवा और बुरहानपुर पहुंच जाते हैं और फिर आगे का सफर शुरू करते हैं।

एक महीने में दस गुना मामले बढ़े 

मध्य प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना के 4986 मरीज मिले। ये मरीज 37,538 सैंपल की जांच में सामने आए हैं। इस तरह संक्रमण दर 13 फीसद रही। 24 मरीजों की मौत अलग-अलग जिलों में हुई है। भिंड और उमरिया को छोड़ दें तो सभी जिलों में 10 से ज्यादा मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक शुक्रवार को पूरे प्रदेश में 42,462 सैंपल लिए गए। इनमें 37,538 की जांच की गई, जिसमें 4986 मरीज मिले। पिछले एक महीने में प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 10 गुना बढ़ चुकी है।