नोएडा व ग्रेटर नोएडा के कोविड अस्पतालों में आक्सीजन की भारी किल्लत, कुछ घंटे का बचा स्टाक

 

ऑक्सीजन देने की गुहार लगाई गई है।
ls नोएडा के कैलाश हास्पिटल में 4 से 5 घंटे की आक्सीजन बची है। हास्पिटलों प्रबंधन ने जिला प्रशासन से आक्सीजन की कमी को लेकर चिंता जाहिर की है लेकिन अबतक आपूर्ति नहीं हो सकी है। यहां सैकड़ों कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है।

नोएडा/ ग्रेटर नोएडा, संवाददाता। दिल्ली-एनसीआर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के साथ ही अस्पतालों में आक्सीजन की किल्लत शुरू हो गई है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा के कोविड अस्पतालों में आक्सीजन की किल्लत है। मिली जानकारी के अनुसार, नोएडा के सेक्टर 39 कोविड अस्पताल में सिर्फ एक घंटे की आक्सीजन बची है। प्रबंधन के पास डी टाइप 28 सिलेंडर भरे हुए हैं इनमें 7000 लीटर गैस होती है जबकि 20 सिलेंडर प्रक्रिया में लगाए गए हैं। हालात यह है कि अस्पताल में प्लांट न होने के कारण कर्मचारियों को खाली सिलेंडर फैक्ट्री में ले जाकर भरवाने पड़ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि पिछले 2 दिनों से अस्पताल में आक्सीजन की आपूर्ति बाधित हो रही है जिससे संक्रमितों की परेशानी बढ़ती जा रही है। वही विगत रात्रि अस्पताल में बरोला निवासी गोपाल की मौत हो गई, स्वजन का आरोप है कि संक्रमित की मौत ऑक्सीजन के अभाव में हुई है। 4 बजे तक वह फ़ोन पर उनसे ठीक बात कर रहे थे। पांच बजे के पास आपूर्ति बाधित हो गयी और साढ़े छह बजे डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

लाश हास्पिटल में 4 से 5 घंटे की आक्सीजन बची

वहीं, नोएडा के कैलाश हास्पिटल में 4 से 5 घंटे की आक्सीजन बची है। हास्पिटलों प्रबंधन ने जिला प्रशासन से आक्सीजन की कमी को लेकर चिंता जाहिर की है, लेकिन अबतक आपूर्ति नहीं हो सकी है। यहां सैकड़ों कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है। यहीं हाल शहर के दूसरे कोविड अस्पतालों का भी है। अन्य कोविड अस्पतालों ने आक्सीजन की कमी के लिए जिला प्रशासन से गुहार लगाई है।

ग्रेटर नोएडा में भी आक्सीजन की किल्लत

वहीं नोएडा व ग्रेटर नोएडा स्थित प्रकाश अस्पताल में 2.30 से 3 घंटे तक की ऑक्सीजन बची। अस्पताल प्रबंधन का कहना फरीदाबाद स्थित एक कंपनी से आक्सीजन आती है। कंपनी का कहना है कि हरियाणा सरकार का आदेश है कि पहले हरियाणा फिर अन्य को प्राथमिकता दी जाए।

अस्पताल ने जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग से मदद मांगी है। एनटीपीसी दादरी से ऑक्सीजन देने की गुहार लगाई गई है। मरीजों के स्वजन को स्थिति से अवगत कराया गया है।