सरकार विशेष टैंकर भेजकर स्टील प्लांटों से ऑक्सीजन मंगाए : डॉ. नरेश त्रेहन

 

मेदांता मेडिसिटी अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर नरेश त्रेहन की फाइल फोटो।

स्टील उद्योग ने ऑक्सीजन देने का प्रस्ताव दिया है। ऐसे में सरकार को विशेष टैंकर भेजकर ऑक्सीजन मंगाई जानी चाहिए। ऐसे में ऑक्सीजन की आपूर्तिन चेन 5-7 दिनों के दौरान पूरी हो सकती है। डॉ. नरेश त्रेहन ने यह भी बताया कि सरकार के प्रयास जारी हैं।

नई दिल्ली, एएनआइ। कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में इजाफे के चलते दिल्ली-एनसीआर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग लगातार बढ़ रही है। इस मुद्दे पर मेदांता मेडिसिटी अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर नरेश त्रेहन  ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में कहा कि कोरोना के मरीजों की गंभीर स्थिति के चलते ऑक्सीजन की मांग बढ़ रही है। इस बीच स्टील उद्योग ने ऑक्सीजन देने का प्रस्ताव दिया है। ऐसे में सरकार को विशेष टैंकर भेजकर ऑक्सीजन मंगाई जानी चाहिए। ऐसे में ऑक्सीजन की आपूर्तिन चेन 5-7 दिनों के दौरान पूरी हो सकती है। डॉ. नरेश त्रेहन ने यह भी बताया कि इस दिशा में सरकार के प्रयास चल रहे हैं।

उधर, एनसीआर में शामिल हरियाणा के जिलों में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या के चलते अब राज्य सरकार पर निजी अस्पतालों में बेड संख्या बढ़ाने का दबाव बन रहा है। केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के प्रयासों से फरीदाबाद में तो निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के लिए बेड संख्या 25 से 50 फीसद कर दी है मगर गुरुग्राम में अभी इस बाबत कोई निर्णय नहीं हुआ है।

गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला और फरीदाबाद एनआइटी से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने बृहस्पतिवार विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता के साथ हुए वर्चुअल संवाद के दौरान निजी अस्पतालों में बेड संख्या बढ़ाने की मांग भी उठाई है। उन्होंने आश्वस्त किया है कि जहां संक्रमितों की संख्या ज्यादा है वहां बेड संख्या बढ़ाने के लिए वे सरकार को लिखकर भेजेंगे।बुधवार सायं आई पिछले 24 घंटे की रिपोर्ट के अनुसार गुरुग्राम में 2988 और फरीदाबाद में 1139 कोरोना मरीज आए। इसी तरह सोनीपत में 960,करनाल में 548 संक्रमित मरीज मिले। इन चार जिलों में कोरोना से मरने वालों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है

जिला स्तर पर बने निगरानी कमेटी

गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला का कहना है कि उन्हें प्रतिदिन सैंकड़ों संक्रमितों के परिजनों के फोन आते हैं मगर वे उन्हें किसी अस्पताल में बेड या इलाज की सुविधा दिलाने में सफल नहीं हो पा रहे हैं। रेमडेसिविर का इंजेक्शन भी नहीं मिल रहा है। गुरुग्राम में कोरोना संक्रमितों के इलाज की सुविधाओं पर निगरानी के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता ने अगले एक सप्ताह में 500 नए बेड तैयार करने का आश्वासन दिया है। सिंगला की व्यथा यह है कि फिलहाल इस सप्ताह में मरीजों को इलाज कैसे मिले। उन्होंने बताया कि वे मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के समक्ष भी गुरुग्राम की वस्तुस्थिति रखेंगे।